किसी ने सच ही कहा है कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है. ये बात एक हद तक सच भी है. क्रिकेट में कब क्या हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है. आज हम आपको दुनियाभर के कुछ ऐसे क्रिकेटरों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने गेंदबाज़ के रूप में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी, लेकिन बाद में विशेषज्ञ बल्लेबाज़ बन गए.

आइये नज़र डालते हैं ऐसे ही 7 क्रिकेटरों पर जो थे तो गेंदबाज़ लेकिन समय के साथ बन गए सफ़ल बल्लेबाज़- 

1- स्टीव स्मिथ  

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ इस समय दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज़ माने जाते हैं. स्मिथ ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत एक लेग स्पिनर के तौर पर की थी. गेंदबाज़ के रूप में ज़्यादा सफ़लता नहीं मिली तो उन्होंने अपनी बल्लेबाज़ी पर ध्यान देना शुरू कर दिया. स्मिथ आज दुनिया के नंबर वन टेस्ट क्रिकेटर हैं. वनडे क्रिकेट में वो 28 जबकि टेस्ट में सिर्फ़ 17 विकेट ही झटक पाए.

Source: cricket

2- नासिर हुसैन 

इंग्लैंड के सबसे महान कप्तानों में से एक नासिर हुसैन को हम सभी एक बेहतरीन बल्लेबाज़ के तौर पर जानते हैं, लेकिन सच ये है कि उन्होंने भी इंटरनेशनल क्रिकेट में शुरुआत एक लेग स्पिन गेंदबाज़ के रूप में की थी.

Source: sportskeeda

3- शोएब मालिक 

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शोएब मालिक ने भी करियर की शुरुआत ऑफ़ स्पिनर के तौर पर की थी. धीरे-धीरे उन्होंने अपनी बल्लेबाज़ी को धार दी और कुछ ही साल बाद टीम में बल्लेबाज़ के तौर पर अपनी जगह पक्की की. शोएब ने गेंदबाज़ के तौर पर वनडे क्रिकेट में 158 विकेट चटकाए हैं.

Source: cricketnmore

4- सनथ जयसूर्या 

ये बात कम ही लोगों को मालूम होगी कि श्रीलंका के विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ सनथ जयसूर्या ने भी अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत एक गेंदबाज़ के तौर पर ही की थी. वो 5 साल तक टीम में लेफ़्ट आर्म स्पिनर के तौर पर खेलते रहे. बल्लेबाज़ी के साथ-साथ पार्ट टाइम गेंदबाज़ के तौर पर उन्होंने वनडे क्रिकेट में 323 विकेट भी चटकाए थे.

Source: navodayatimes

5- केविन पीटरसन  

इंग्लैंड के स्टाइलिश बल्लेबाज़ पीटरसन ने भी अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत एक ऑफ़ स्पिनर के रूप में की थी, लेकिन वो गेंदबाज़ के तौर पर विफ़ल रहे. इसके बाद उन्होंने ख़ुद को एक बल्लेबाज़ के रूप में स्थापित किया. तेज़ तर्रार इंग्लिश क्रिकेटरों में से एक पीटरसन ने अपने आक्रामक स्ट्रोक-प्ले से दुनिया भर के गेंदबाज़ों को ख़ूब परेशान किया है.

Source: punjabkesari

6- कैमरून व्हाइट  

ऑस्ट्रेलियाई टीम में खेल चुके विस्फ़ोटक बल्लेबाज़ कैमरून व्हाइट ने भी अपने करियर की शुरुआत गेंदबाज़ के तौर पर ही की थी. व्हाइट ने गेंदबाज़ी के साथ-साथ बल्लेबाज़ी में भी हाथ दिखाने शुरू कर दिए थे. बेहद कम समय में ही उन्होंने ख़ुद को टीम में मुख़्य बल्लेबाज़ के तौर पर स्थापित कर लिया था.

Source: cricketnmore

7- मनोज प्रभाकर  

मनोज प्रभाकर ने भी अपने करियर की शुरुआत गेंदबाज़ के तौर पर ही की थी. लेकिन उन्होंने टीम इंडिया के लिए ओपनिंग भी की है. वैसे प्रभाकर विशेषज्ञ बल्लेबाज़ तो नहीं बन पाए, लेकिन वो अच्छी बल्लेबाज़ी कर लेते थे.

Source: mid-day

अगर आपको भी ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों के बारे में जानते हैं तो हमारे साथ शेयर करें.