टीम इंडिया के युवा ओपनर पृथ्वी शॉ को BCCI ने 8 महीने के लिए निलंबित कर दिया है. उन्हें डोपिंग रोधी नियम के उल्लंघन का दोषी पाया गया.है. पृथ्वी अब 8 महीने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट के साथ ही घरेलु क्रिकेट से भी दूर रहेंगे.

prithvi shaw banned for eight months
Source: thehindu

बीसीसीआई ने क्या कहा

BCCI ने कहा कि, मुंबई क्रिकेट संघ से पंजीकृत पृथ्वी शॉ को डोपिंग के नियमों के उल्लंघन के कारण निलंबित कर दिया गया है. शॉ ने प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया था, जो आमतौर पर खांसी की दवाई में पाया जाता है.

Shaw was found guilty of consuming a banned substance Terbutaline
Source: manoramaonline

दरअसल, पृथ्वी शॉ ने 22 फ़रवरी, 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी के दौरान अपना सैम्पल दिया था. जिसमें उन्हें डोपिंग रोधी नियम के उल्लंघन का दोषी पाया गया.है. BCCI ने डोप परीक्षण में नाकाम होने के बाद 19 साल के पृथ्वी को 15 नवंबर 2019 तक खेल के सभी प्रारूपों से निलंबित कर दिया है.

इस पर पृथ्वी ने सफ़ाई देते हुए कहा कि-

shaw accept his suspension
Source: msn

मुझे आज ही चला कि मैं 15 नवंबर तक क्रिकेट नहीं खेल पाऊंगा. क्रिकेट मेरी ज़िंदगी है. मेरे लिए भारत और मुंबई के लिए खेलना गर्व की बात है. फ़रवरी, 2019 को 'सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी' के दौरान मुझे तेज़ खांसी ज़ुकाम हो गया था जिसके लिए मैंने कफ़ सिरप पी लिया था. 22 फ़रवरी, 2019 को मैंने अपना यूरीन सैम्पल दिया था. सैम्पल की जांच में प्रतिबंधित पदार्थ टर्बूटालाइन के अंश पाए गए थे. टर्बूटालाइन वाडा के प्रतिबंधित पदार्थ की सूची में शामिल है.

'हां मैंने अनजाने में इस प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया कर लिया था. कफ़ सिरप का इस्तेमाल कर मैं प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर पाया. मैं अब भी ऑस्ट्रेलियाई दौरे में लगी चोट से उबर ही रहा था कि अब इस ख़बर ने मुझे परेशानी में डाल दिया है.

Source: moneycontrol
मैं बस इतना ही कहना चाहूंगा कि दवा को लेने में बेहद सावधानी बरतें, भले ही दवा काउंटर पर उपलब्ध हो, लेकिन हमेशा प्रोटोकॉल का पालन करें'. मुझे उम्मीद है कि मैं एक बार फिर पहले से अधिक मज़बूती और तेज़ी के साथ क्रिकेट में वापसी करूंगा.

पृथ्वी शॉ ने कफ़ सिरप पीने और प्रोटोकॉल फ़ॉलो न कर पाने को स्वीकार कर, फ़ैंस का दिल जीत लिया