वर्ल्ड कप 2019 के दौरान भारतीय टीम द्वारा नज़रअंदाज़ किये जाने के बाद अंबाती रायुडू ने क्रिकेट के सभी फ़ॉर्मेट से संन्यास ले लिया था. अब ख़बर है कि अंबाती रायुडू ने अपने संन्यास के फ़ैसले पर पुनर्विचार किया है.

33 वर्षीय अंबाती रायुडू ने हैदराबाद क्रिकेट असोसिएशन (एचसीए) को एक पत्र लिखकर कहा है कि संन्यास लेने का फ़ैसला उन्होंने भावनाओं में बहकर लिया था और वो अब सिलेक्शन के लिए उपलब्ध रहेंगे.

Source: gulfnews

अंबाती रायुडू ने गुरुवार को एचसीए के सीओए को ई-मेल में लिखा कि-

'मैं संन्यास के फ़ैसले को पीछे छोड़ते हुए क्रिकेट के सभी फ़ॉर्मेट में खेलना चाहता हूं. मैं इसके लिए चेन्नई सुपर किंग्स, वीवीएस लक्ष्मण और नोएल द्रविड़ को शुक्रिया कहना चाहता हूं, जो मेरे मुश्किल समय में मेरे साथ रहे और मुझे इस बात का अहसास दिलाया कि मेरे अंदर अभी काफ़ी क्रिकेट बची है'.
Source: zeenews

'हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन' ने ख़ुद इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि रायुडू ने अपना संन्यास वापस ले लिया है. वो साल 2019-20 के सेशन के दौरान शॉर्ट फ़ॉर्मेट में हैदराबाद की टीम के लिए खेलते दिखेंगे.

Source: jagran

अंबाती रायुडू कुछ समय पहले ख़ुद इस बात के संकेत दे चुके थे कि वो फिर से भारतीय टीम में खेलना चाहते हैं. इस फ़ैसले के बाद अब ये तय है कि रायुडू जल्द ही मैदान पर नज़र आने वाले हैं.

Source: thenewsminute

अंबाती रायुडू अक्सर अपने बेबाक अंदाज़ के लिए जाने जाते हैं. साल 2009 में भी वो BCCI से बग़ावत कर Indian Cricket League (ICL) से जुड़ गए थे. वर्ल्ड कप 2019 में रायुडू के स्थान पर विजय शंकर को चुने जाने के बाद उन्होंने सेलेक्टर्स के इस फ़ैसले की आलोचना की थी. इसके बाद उन्हें सेलेक्टर्स ने बैकअप प्लेयर्स के तौर पर रखा था, लेकिन विजय शंकर के चोटिल होने के बाद मयंक अग्रवाल को टीम में जगह देने से नाराज़ रायुडू ने संन्यास की घोषणा की थी.

Source: timesnownews

अंबाती रायुडू ने भारत के लिए 55 वनडे और 6 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं. 55 वनडे मैचों में उन्होंने 47 की शानदार औसत से 1694 रन बनाए हैं, जिसमें 3 शतक और 10 अर्धशतक शामिल हैं. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 124 रन रहा है.