भारतीय टीम वर्ल्ड कप से बाहर हो चुकी है, लेकिन फ़ैन्स को अब भी इस बात का यकीन ही नहीं हो रहा. दिमाग में बार-बार धोनी का रन आउट, विराट की झल्लाहट और रोहित का रोना ही घूम रहा है.

Source: rediff

कहां तो हम वर्ल्डकप के सपने संजोए बैठे थे और अब धोनी को नंबर 4 के बजाय 7वें स्थान पर किसने भेजा इस बात पर बहस कर रहे हैं. फ़ैन्स अब भी धोनी के बैटिंग ऑर्डर में किये बदलाव को ही भारत की हार का मुख़्य कारण मान रहे हैं.

Source: msn

पिछले कुछ दिनों से मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक हर कोई इसी बात को लेकर परेशान था कि आख़िरकार धोनी के बैटिंग ऑर्डर में किसने बदलाव किया? अब इस बात खुलासा हो चुका है.

Source: rediff

PTI के मुताबिक़, धोनी को चौथे के बजाय 7वें स्थान पर भेजने का फ़ैसला बैटिंग कोच संजय बांगर का था. मैच की स्थिति को देखते हुए धोनी को चौथे स्थान पर भेजा जाना चाहिए था, लेकिन संजय बांगर ने युवा ऋषभ पंत को उतारा.

Source: yahoo

फ़ैन्स ऋषभ पंत के आउट होने के बाद धोनी के आने का इंतज़ार कर रहे थे, लेकिन आए दिनेश कार्तिक. कार्तिक भी जल्दी ही आउट हो गए. इसके बाद भी धोनी नहीं, बल्कि हार्दिक पंड्या को भेजा गया. बस इसी बात को लेकर फ़ैन्स हैरान थे कि आख़िर धोनी को सातवें स्थान पर उतारने का क्या मतलब. टीम इंडिया 92 रन पर 6 विकेट गंवा चुकी बावजूद इसके धोनी ने जडेजा के साथ मिलकर स्कोर 208 रनों तक पहुंचाया.

Source: rediff

यहां तक कि क्रिकेट एक्सपर्ट भी चौथे नंबर पर ऋषभ पंत के बजाय धोनी को भेजने की बात कह रहे थे. कप्तान विराट कोहली भी ऋषभ पंत को चौथे नंबर पर भेजने के पक्ष में नहीं थे.

Source: mynation
कप्तान विराट कोहली पहले ही कह चुके हैं कि उस सिचुएशन में धोनी चौथे स्थान पर बल्लेबाज़ी के लिए पहली पसंद थे. वो अकसर दबाव में इनिंग को अच्छे से हैंडल करते हैं.
Source: india

इसी मुद्दे को लेकर जल्द ही COA कोचिंग स्टाफ़ और कप्तान विराट कोहली के साथ विश्व कप की समीक्षा बैठक करेगा. इस दौरान संजय बांगर के इस फ़ैसले पर भी चर्चा की जाएगी. साथ ही मुख्य कोच रवि शास्त्री से भी इस मुद्दे पर पर सवाल पूछे जायेंगे.