खेल हो या ज़िंदगी, कोई भी पीछे नहीं छूटना चाहता. बात जब क्रिकेट जैसे खेल की हो, फिर तो पीछे छूटना क़तई मंज़ूर नहीं. क्योंकि बहुत से लोगों के लिए क्रिकेट उनकी ज़िंदगी से कम नहीं है.   

हालांकि, कई बार क्रिकेटर्स को न चाहते हुए भी मैदान से दूर होना पड़ता है. ये तब और बुरा होता है, जब किसी एथलीट को अजीब कारणों के चलते ये झेलना पड़े. हालांकि, कुछ सस्पेंशन की वजह ठीक भी थी, लेकिन फिर भी उन्हें अजीब ही माना जाएगा.

तो चलिए फिर वो अजीबो-ग़रीब कारण जान लेते हैं, जिनके चलते खिलाड़ियों को सस्पेंड किया जा चुका है.

1. कपिल देव को तेज़ी से स्कोर करने की कोशिश के चलते होना पड़ा सस्पेंड

Source: hindustantimes

जी हां, सुनने में ये भले ही अजीब लगे, पर सच है. 1984-85 सीज़न के दौरान प्रबंधन ने कपिल देव को एक मैच के लिए बैठा दिया था, क्योंकि वो तेज़ी से स्कोर करने की कोशिश कर रहे थे. बाद में उन्हें सस्पेंड भी होना पड़ा. भारत मैच हार गया और अपनी लापरवाही के लिए 'सज़ा' के तौर पर कपिल को बाहर बैठने के लिए कहा गया.

उन्होंने अपनी आत्मकथा में भी इस बात का उल्लेख किया है कि उन्हें अनुशासन तोड़न के चलते खेलने की अनुमति नहीं दी गई थी. 

2. टीम मीटिंग छोड़, मछली पकड़ रहे थे एंड्र्यू साइमंड्स 

Source: nz

ये बात 2008 की है. एंड्र्यू साइमंड्स को टीम मीटिंग के बारे में जानकारी नहीं थी, तो वो मछली पकड़ने चले गए. शायद उन्हें इस बात का ज़रा भी अंदाज़ा नहीं था कि इस भूल के लिए उन्हें एक महीना घर बैठना पड़ जाएगा. साइमंड्स को एक महीने के लिए टीम से बाहर कर दिया गया ताकि वो साबित कर सकें कि उन्हें अभी भी ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट की परवाह है.

3. धीमा खेलने की वजह से टीम से बाहर हुए Ken Barrington

Source: espncricinfo

ये बात 1965 की है, तब खेल बहुत धीमा हुआ करता था. ऊपर से Ken Barrington उससे भी धीमा स्कोर कर रहे थे. ऐसे में अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए, उन्हें एक टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया. दरअसल, Ken पहले भी इस तरह से धीमा स्कोर कर चुके थे. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उन्होंने 1964 में 11.5 घंटे में 256 रन बनाए थे.

4. वापस पाक भेजे गए शोएब अख़्तर

Source: news18

शोएब अख़्तर ने अपने साथी खिलाड़ी मोहम्मद आसिफ़ को बैट से पीट दिया था. जिसके चलते उन्हें पाकिस्तान वापस भेज दिया गया. शोएब ने बाद में बताया कि वो शाहिद अफ़रीदी से नाराज़ थे और ग़लती से बैट आसिफ़ के लग गया. ज़ाहिर है, उनकी इस सफ़ाई ने कोई मदद नहीं की. 

5. पेट में परेशानी बताकर मैच छोड़कर गोल्फ़ खेलने चले गए Geoff Boycott

Source: theguardian

1981-82 सीज़न के दौरान Geoff Boycott पर बैन लगाया गया था, क्योंकि भारत के ख़िलाफ़ चल रहे मैच में वो मैदान से पेट में परेशानी बताकर निकल गए और बाहर जाकर गोल्फ़ खेलने लगे.

उन्होंने बाद में बताया कि डॉक्टरों ने उन्हें फ़्रेश एयर लेने के लिए कहा था और फिर माफ़ी भी मांगी, लेकिन कुछ काम नहीं आया. Geoff का टेस्ट करियर इसके बाद ख़त्म हो गया.

6. प्लेयर पर बॉल फेंकने और पिच पर दौड़ने के चलते सस्पेंड हुए रविंद्र जडेजा

Source: amarujala

रविंद्र जडेजा को 2017 में एक मैच के लिए सस्पेंड किया गया था. उन्हें खिलाड़ी पर बॉल फेंकने के चलते डी-मेरिट अंक मिले थे. साथ ही उनके क्रिकेट पिच पर दौड़ने की वजह से पिच डैमेज हो गई थी. ये दोनों घटनाएं अलग-अलग मैच की थी, लेकिन नतीजा एक ही रहा, उनका सस्पेंशन.

7. ज़्यादा ख़ुशी दिखाने के चलते बाहर हुए Kagiso Rabada

इस बात पर काफ़ी बहस भी हुई थी. दरअसल, Kagiso Rabada को बहुत ज़्यादा सेलिब्रेशन करने के चलते टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया था, जो ICC के नियमों के मुताबिक था. Brett Lee और Michael Vaughan जैसे क्रिकेटर्स ने इसे ग़लत भी ठहराते हुए विरोध किया था और यहां तक कि आम भावनाएं भी रबाडा के पक्ष में थीं. लेकिन फिर भी चौथे टेस्ट में उन्हें बैठना पड़ा था.