कल नॉर्टिंघम में भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले जाने वाला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया. इससे भारतीय फ़ैंस बेहद मायूस हैं. वर्ल्ड कप इतिहास में पहली बार टीम इंडिया के किसी मैच को बिना गेंद फेंके ही रद्द घोषित किया गया. इससे पहले 1992 वर्ल्ड कप में भारत-श्रीलंका के बीच मैच रद्द हुआ था लेकिन तब मैच में सिर्फ़ दो गेंदें ही फेंकी गई थी.  

Source: in.com

पहले दक्षिण अफ़्रीका, फिर ऑस्ट्रेलिया को हराकर टीम इंडिया अच्छी लय में दिख रही थी लेकिन न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ होने वाले तीसरे मुक़ाबले में बारिश ने सब गुड़ गोबर कर दिया. वर्ल्ड कप में अब तक कई अहम मुक़ाबले बारिश में धुल चुके हैं. जिससे कई टीमों का वर्ल्ड जीतने का सपना चकनाचूर हो सकता है.  

Source: navbharattimes

वर्ल्ड कप में ऐसा पहली बार हो रहा है जब शुरुआती 15 दिनों में ही 4 मुकाबले बारिश के कारण धुल चुके हैं. इनमें से 3 मैच तो ऐसे रहे, जिनमें एक भी गेंद फेंकी नहीं जा सकी. इससे पहले साल 1992 और 2003 के वर्ल्ड कप में दो-दो मुक़ाबले बारिश की वजह से रद्द हुए थे.   

Source: bhaskar

एक फ़ैन के तौर पर मैं आईसीसी के इस फ़ैसले से मैं बेहद निराश हूं. सिर्फ़ मैं ही नहीं, वो लाखों फ़ैंस जो पिछले 4 साल से वर्ल्ड कप का इंतज़ार कर रहे थे, उनके अरमानों पर आईसीसी ने बारिश का पानी फेर दिया. कई फ़ैंस लाखों रुपये खर्च करके इंग्लैंड मैच देखने गए, लेकिन उन्हें वहां सिर्फ़ बारिश देखने को मिल रही है.  

Source: navbharattimes

इस बार विराट की कप्तानी और धोनी की मौजूदगी में टीम इंडिया वर्ल्ड कप की प्रमुख दावेदार मानी जा रही है. यही कारण है कि टीम इंडिया के हर मुक़ाबले में स्टेडियम भारतीय फ़ैंस से खचाखच भरे नज़र आ रहे हैं. ऐसे में कल के मैच के बाद अब 16 जून को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ होने वाले अहम मुक़ाबले पर बारिश का साया मंडरा रहा है.  

Source: bhaskar

एक फ़ैन के तौर पर मेरा आईसीसी से सवाल है कि जब ये मालूम था कि इंग्लैंड में इन दिनों बारिश होती है, तो रिज़र्व डे क्यों नहीं रखे गए? आईसीसी ने बिना सोचे-समझे इंग्लैंड के उन स्टेडियम में ज़्यादा मुक़ाबले रखे, जहां हर साल अधिक बारिश होती है.  

Source: navbharattimes

इंग्लैंड में इन दिनों ऐसा लग रहा है मानों मैच दो टीमों के बीच नहीं बल्कि आईसीसी और बारिश के बीच खेले जा रहे हों. फ़ैंस इंग्लैंड में वर्ल्ड कप कराए जाने को लेकर आईसीसी के पीछे हाथ धोकर पड़ चुके हैं. सोशल मीडिया पर फ़ैंस का गुस्सा चरम पर है, जो कि जायज़ भी है. 

महिला फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप की Viewership बढ़ी  

Source: dailysportx

इंग्लैंड में इन दिनों महिला फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप भी खेला जा रहा है. बारिश से मायूस फ़ैंस क्रिकेट मैच के बजाय फ़ुटबॉल मैच देखना पसंद कर रहे हैं. यही वजह है कि वर्ल्ड कप मैचों से ज़्यादा Viewership महिला फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप के मैचों को मिल रही है. जहां इंग्लैंड के मैच काे सिर्फ़ 5.5 लाख लोगों ने ही देखा, वहीं महिला फ़ुटबॉल वर्ल्ड कप में इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के मैच की Viewership 46 लाख थी.