भारत में टेनिस बड़ा नाम है, बड़े-बड़े खिलाड़ी इस खेल का हिस्सा हैं. सानिया मिर्ज़ा, महेश भूपती, लियंडर पेस आदि वो नाम है, जो देश दुनिया में स्टार की हैसियत रखते हैं. 

Source: Livemint

लेकिन इनसे पहले भारत से एक ऐसा खिलाड़ी भी निकला था, जिसे दुनिया जानती थी. जिसने टेनिस में उन ऊंचाइयों के देखा, जहां अब तक कोई भारतीय खिलाड़ी नहीं पहुंच सका है. उसे भारत का पहला टेनिस सुपरस्टार कहा जाता है. 

Source: Medium

आज भी भारत टेनिस में सिंगल्स श्रेणी में एक भी ग्रैंड स्लैम नहीं जीत पाया है. लेकिन 70-80 के दशक में देश को बहुत यकीन था कि विजय अमृतराज ही वो खिलाड़ी है, जिसके भीतर ग्रैंड स्लैम जीतने का दमखम है. 

ऐसे कई मौक़े भी आए जब लगा कि विजय के हाथ ग्रैंड स्लैम तक पहुंच चुके हैं, लेकिन संभावना कभी वास्तविकता में तब्दील न हो सकी. 

Source: Reddif

विजय अमृतराज ने अपने दौर के बड़े-बडे धुरंधरों और टेनिस के महान खिलाड़ियों को मात दी थी. Jan Kodeš(5 ग्रैंड स्लैम टाइटल), Ken Rosewall (16 ग्रैंड स्लैम टाइटल), Rod Laver (17 ग्रैंड स्लैम टाइटल), Björn Borg (16 ग्रैंड स्लैम टाइटल), Jimmy Connors (15 ग्रैंड स्लैम टाइटल) जैसे बड़े नाम कभी न कभी विजय अमृतराज के सामने घुटने टेके थे. 

करियर की ऊंचाई 

साल 1973 में विजय दो ग्रैंड स्लैम के क्वार्टर फ़ाइनल तक पहुंचे थे. विंबिलडन में Jan Kodeš के हाथों उन्हें हार मिली और यू. एस. ओपन में Ken Rosewall के सामने विजय कमज़ोर पड़ गए. अमृतराज साल 1974 और 1987 के उस भारतीय टीम के भी हिस्सा थे, जो डेविस कप के फ़ाइनल में पहुंची थी. 

Source: India Today

7 जुलाई, 1980 को उन्हें करियर की बेस्ट रैंकिंग मिली थी, 16 वां रैंक हांसिल कर विजय ने भारत के लिए रिकॉर्ड बनाया, जिसे आज तक कोई तोड़ नहीं पाया, यहां तक की समीप भी नहीं पहुंच सका है. 

स्टेडियम के बाहर का स्टार्डम 

Source: Forbes

खेल जगत से इतर भी विजय अमृतराज हॉलीवुड की फ़िल्मों में रोल कर नाम बना रहे थे. साल 1983 में आए James Bond Series की फ़िल्म 'Octopussy' में इस चेन्नई के खिलाड़ी ने जासूस का किरदार निभाया था. बाद में वो 'Star Trek IV: The Voyage Home' फ़िल्म का भी हिस्सा बने थे.यहां तक कि विजय Miss Universe Pageant प्रतियोगिता में जज की भूमिका भी निभा चुके हैं. 

लग्ज़री घड़ी की ब्रैंड रोलेक्स ने विजय की प्रसिद्धी देख कर उन्हें अपना ब्रांड अंबेस्डर बनाया था. 

साल 2001 युनाइटेड नेशन्स ने विजय को अपना शांति का दूत बनाया था. ड्रग्स और एड्स के ऊपर वो लोगों के जागरुक करते रहते हैं, इसके लिए उन्होंने साल 2006 में The Vijay Amritraj Foundation की स्थापना की थी.