भले ही हमारे देश ने अब तक ट्रैक इवेंट में ओलंपिक मेडल न जीता हो, लेकिन दशकों से हमारा देश बेस्ट स्प्रिंटर्स का घर रहा है. हमारे देश में कई ऐसे धावक हुए हैं, जिन्होंने कई प्रतियोगिताओं में देश का नाम रौशन किया है. फिर चाहे बात 'उड़न परी' पीटी उषा की हो या फिर 'फ़्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह की.

आइए एक नज़र भारतीय एथलीट्स की कुछ ऐसी है उपलब्धियों पर डाल लेते हैं, जो ऐतिहासिक हैं और उन्हें भुलाया नहीं जा सकता.

1. मिल्खा सिंह ने दिलाया स्वतंत्र भारत को कॉमन वेल्थ गेम्स में पहला गोल्ड

milkha singh
Source: morphnewztoday

आज़ाद भारत को कॉमन वेल्थ गेम्स में पहला गोल्ड मिल्खा सिंह ने ही दिलाया था. 1958 में हुए इन गेम्स की 400 मीटर स्पर्धा में मिल्खा सिंह ने 46.6 सेकेंड की टाइमिंग के साथ गोल्ड मेडल जीता था. उनकी इस जीत ने ही भारतीय धावकों को बड़े-बड़े सपने देखने के लिए प्रेरित किया था.

2. पीटी उषा का गोल्डन पंच

pt usha
Source: ibtimes

उड़न परी उर्फ़ पीटी उषा ने 1985 में हुई एशियन चैंपियनशिप में स्वर्णिम दौड़ लगाई थी. उन्होंने जकार्ता में हुए इन गेम्स में 6 मेडल जीते थे, जिनमें से 5 गोल्ड मेडल थे. उनकी इस उपलब्धि को आज भी एशियन चैंपियनशिप के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत प्रयास के रूप में याद किया जाता है.

3. पीटी ऊषा और सियोल एशियन गेम्स

pt usha
Source: thequint

1986 में सियोल में हुए एशियन गेम्स में पीटी उषा ने अलग-अलग स्पर्धाओं में 4 गोल्ड मेडल जीते थे. उनके इस शानदार प्रदर्शन की अंतरराष्ट्रीय मीडिया और विदेशी Coaches ने भी प्रशंसा की थी. उन्होंने अपने करियर में 100 से भी अधिक पदक जीते हैं.

4. हिमा दास और World U-20 Championships 2018

hima das
Source: dnaindia

जुलाई 2018 में World U-20 Championships में हिमा दास ने 400 मीटर के फ़ाइनल में गोल्ड जीता था. इसके साथ ही वो एक अंतरराष्ट्रीय ट्रैक इवेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भातीय बन गई हैं. गोल्डन गर्ल के नाम से मशहूर हिमा दास ने इस साल एक महीने के अंदर अलग-अलग प्रतियोगिताओं में 6 गोल्ड जीत कर देश का नाम रौशन किया था.

5. दुती चंद

dutee chand
Source: moneycontrol

दुती चंद ने इस साल Napoli में हुई Summer Universiade में 100 मीटर की स्पर्धा में 11.32 सेकेंड की टाइमिंग के साथ गोल्ड जीता था. वो इस प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय स्प्रिंटर बन चुकी हैं. भारत की इस राज़िंग स्टार ने अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने की उम्मीद जगाई है.

हमें उम्मीद है कि आगे भी हमारे स्प्रिंटर इन सभी की तरह हमारे देश का नाम रौशन करते रहेंगे.

Sports से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.