पूर्व मुख्य चयनकर्ता एम.एस.के. प्रसाद का कार्यकाल ख़त्म होने के बाद आख़िरकार भारतीय क्रिकेट टीम को उसका मिला नया चीफ़ सेलेक्टर मिल ही गया है.

बीते बुधवार को मुंबई में बीसीसीआई हेडक्वाटर में हुए इंटरव्यू में क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) ने एम.एस.के. प्रसाद और गगन खोड़ा के स्थान पर पूर्व स्पिनर सुनील जोशी और पूर्व तेज़ गेंदबाज़ हरविंदर सिंह का चयन किया है.

Source: punjabkesari

सीएसी की 3 सदस्यीय टीम ने किया चयन

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर मदन लाल, तेज़ गेंदबाज़ आरपी सिंह और महिला क्रिकेटर सुलक्षणा नाइक की सदस्यता वाली 'क्रिकेट सलाहकार समिति' ने एम.एस.के. प्रसाद के स्थान पर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व लेफ़्ट आर्म स्पिनर सुनील जोशी को चीफ़ सेलेक्टर जबकि हरविंदर सिंह को सेलेक्टर के तौर पर चुना है.

Source: khabar

सुनील जोशी का क्रिकेट करियर

पूर्व लेफ़्ट आर्म स्पिनर सुनील जोशी ने साल 1996 से लेकर 2001 के बीच भारतीय टीम के लिए 15 टेस्ट में 352 रन बनाने के साथ ही 41 विकेट भी झटके. जबकि 69 एकदिवसीय मैचों में 584 रन बनाने के साथ ही 69 विकेट भी हासिल किये. सुनील जोशी के फ़र्स्ट क्लास करियर की बात करें तो उन्होंने 160 मैचों में 5,129 रनों के साथ ही 615 विकेट झटके.

Source: punjabkesari

26 सितंबर 1999 को नैरोबी में दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ एलजी कप के दौरान सुनील जोशी ने वनडे क्रिकेट के इतिहास में संयुक्त रूप से दूसरा सबसे किफ़ायती 5 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया था. इस दौरान उन्होंने 10 ओवरों में 6 मेडन डालकर मात्र 6 रन दिए और 5 विकेट हासिल किये. कुछ ऐसा था जोशी का गेंदबाज़ी विश्लेषण-10-6-6-5.

Source: theweek

जबकि पूर्व तेज़ गेंदबाज़ हरविंदर सिंह की बात करें तो उन्होंने भारत के लिए 3 टेस्ट और 16 वनडे मैच खेले हैं. हरविंदर ने टेस्ट में 4 विकेट जबकि वनडे में 24 विकेट हासिल किये थे.

Source: punjabkesari

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कहा, 'क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने पूर्व स्पिनर सुनील जोशी और हरविंदर सिंह के नाम की सिफ़ारिश की है. सीएसी एक साल की अवधि के बाद उम्मीदवारों की समीक्षा करेगा और बीसीसीआई को सिफ़ारिशें देगा. चयन समिति में जतिन परांजपे, शरनदीप सिंह और देवांग गांधी का कार्यकाल बरकरार रहेगा.

नई चयन समिति दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 12 मार्च से शुरू होने वाली तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए टीम का चयन करेगी. सीएसी की नियुक्ति 31 जनवरी को की गई थी, लेकिन उसकी पहली बैठक मंगलवार को हुई.