अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पूर्व श्रीलंकाई कप्तान सनथ जयसूर्या को आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से दो साल के लिए बैन कर दिया है.

Source: sakshi

दरअसल, श्रीलंकाई क्रिकेट में बड़े स्तर पर फैले भ्रष्टाचार को लेकर आईसीसी ने सनथ जयसूर्या से पूछताछ की थी. इस दौरान आईसीसी के भ्रष्टाचार निरोधक इकाई (एसीयू) ने जयसूर्या को संहिता के दो अनुच्छेदों के उल्लंघन का दोषी पाया था.

Source: mykhel

आईसीसी की तरफ़ से कहा गया कि जयसूर्या को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से दो साल के लिए बैन कर दिया गया है. उन्हें आइसीसी के नियम आर्टिकल 2.4.6 यानी आइसीसी की जांच में सहयोग न करने, आर्टिकल 2.4.7 जांच में बाधा डालने और सबूतों के साथ छेड़छाड़ करने का दोषी पाया गया है.

दो साल के लिए प्रतिबंधित किए जाने के बाद जयसूर्या ने इस फ़ैसले को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया और दावा किया कि आईसीसी के पास उनके ख़िलाफ़ 'भ्रष्टाचार, सट्टेबाजी या आंतरिक सूचना के दुरूपयोग' का कोई सबूत नहीं है.

Source: eurosport

जयसूर्या ने साथ ही कहा कि 'मैंने हमेशा देश को सबसे पहले रखा और क्रिकेट प्रेमी जनता इसका गवाह रही है. मैंने हमेशा पूरी ईमानदारी के साथ इस खेल को खेला है. मैं श्रीलंका की जनता और अपने प्रशंसकों का आभार व्यक्त करता हूं जो इस मुश्किल दौर में मेरे साथ खड़ी है'.

Source: aljazeera

जयसूर्या साल 1996 विश्व कप विजेता श्रीलंकाई टीम के अहम सदस्य थे. उन्होंने अपने 22 साल के अंतर्राष्ट्रीय करियर में 445 वनडे में 13430 रन व 323 विकेट चटकाए जबकि 110 टेस्ट मैचों में 6973 रन व 98 विकेट झटके.

Source: indianexpress

श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड में रहते हुए पॉलिटिकल पार्टी से जुड़ना हो या फिर MMS लीक होना होना. जयसूर्या हमेशा से ही विवादों में रहने वाले क्रिकेटर रहे हैं. वो दो बार श्रीलंकाई चयनसमिति के अध्यक्ष भी रहे हैं.

Source: firstpost

इस फ़ैसले के बाद वो क्रिकेट प्रशासन में कोई भी भूमिका नहीं निभा पांएगे.