पूर्व भारतीय क्रिकेटर जी.एस. लक्ष्मी ICC पुरुष वनडे क्रिकेट में पहली महिला मैच रेफ़री बनने जा रही हैं. लक्ष्मी 8 दिसंबर से शुरू हो रहे 'ICC पुरुष क्रिकेट वर्ल्ड कप लीग 2' के तीसरे सीज़न के दौरान शारजाह में यूएई-अमरीका के बीच खेले जाने वाले वनडे मैच में बतौर मैच रेफ़री उतर कर इतिहास रचेंगी.

Source: news24online

ICC पुरुष क्रिकेट वर्ल्ड कप लीग 2 इस साल अगस्त में शुरू हुआ था, जो जनवरी 2022 तक चलेगा. इस टूर्नामेंट के दौरान कुल 126 मैच खेले जाएंगे. शीर्ष तीन टीमें साल 2022 'ICC पुरुष क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालिफ़ायर' में खेलेंगी. इसी के आधार पर साल 2023 में भारत में खेले जाने वाले वाले वर्ल्ड कप के लिए टीमों का चयन होगा.

Source: livehindustan

'ICC इंटरनेशनल पैनल ऑफ़ मैच रेफ़री' में सेलेक्ट होने के बाद ये लक्ष्मी की इस साल दूसरी बड़ी उपलब्धि है. 51 वर्षीय लक्ष्मी 2008-09 के घरेलू महिला क्रिकेट में पहली बार मैच रेफ़री बनी थीं.

जी.एस. लक्ष्मी अब तक महिला क्रिकेट के 3 अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच, 7 टी20 इंटरनेशनल जबकि पुरुषों के 16 टी20 इंटरनेशनल मैचों में बतौर मैच रेफ़री उतर चुकी हैं.

Source: bbc

इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी मिलने के बाद लक्ष्मी का कहना है कि-

Source: newsstate
भारत में एक क्रिकेटर और मैच रेफ़री के रूप में मेरा लंबा करियर रहा है. मैं अपने अनुभव को एक खिलाड़ी और मैच अधिकारी के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अच्छी तरह से उपयोग करने की आशा करती हूं. मुझे उम्मीद है कि मैं अपनी पूरी क्षमता का प्रदर्शन करूंगी और अपनी ज़िम्मेदारियों पर खरा उतरने का प्रयास करूंगी.

कौन हैं जी. एस. लक्ष्मी?

आंध्र प्रदेश में जन्मीं लक्ष्मी बिहार के जमशेदपुर में बड़ी हुईं. वहां उनके पिता कार्यरत थे. बतौर तेज़ गेंदबाज़ वो रेलवे के लिए खेलीं. साल 1999 में वो इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम की सदस्य भी रह चुकी हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए खेलने का मौक़ा नहीं मिल पाया. आख़िरकार साल 2004 में लक्ष्मी ने क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया.

Source: bbc

इसके बाद लक्ष्मी 10 सालों तक 'साउथ सेंट्रल रेलवे' की कोच भी रहीं. इसी दौरान साल 2008 में BCCI ने महिला घरेलू क्रिकेट में महिला मैच रेफ़री उतारने की शुरुआत की. बस यहीं से मैच रेफ़री के तौर पर लक्ष्मी के करियर की शुरुआत हुई.