बीते मंगलवार को सिडनी में ऑस्ट्रेलिया ने 'टी-20 सीरीज़' के तीसरे और आख़िरी मैच में टीम इंडिया को 12 रन से हरा दिया. हालांकि, भारतीय टीम सीरीज़ 2-1 से जीतने में क़ामयाब रही. इस दौरान शानदार प्रदर्शन के लिए हार्दिक पांड्या को 'मैन ऑफ़ द सीरीज़' चुना गया.

Source: twitter

कल सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर फिर से जेंटलमैन गेम क्रिकेट का एक नायाब उदाहरण देखने को मिला. टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने Sportsman Spirit दिखाते हुए अपनी 'मैन ऑफ़ द सीरीज़' की ट्रॉफ़ी करियर की पहली 'टी-20 सीरीज़' खेल रहे तेज़ गेंदबाज़ टी. नटराजन को सौंप दी.

हार्दिक पांड्या ने ट्विटर पर नटराजन को ट्रॉफ़ी सौंपते हुए एक तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, 'नटराजन, इस सीरीज़ में आपका प्रदर्शन शानदार रहा. आपने टीम को मुश्किल हालात में जीत दिलाई. आपने अपनी डेब्यू सीरीज़ में कड़ी मेहनत की और अपना टैलेंट दिखाया. मेरी ओर से आप ही इस 'मैन ऑफ़ द सीरीज़' के असली हक़दार हो भाई'.

इस दौरान पांड्या ने कहा था कि, भारत ने ये मैच नटराजन की शानदार बॉलिंग की वजह से जीता है और उन्हें ही ट्रॉफ़ी मिलनी चाहिए. नटराजन की बॉलिंग की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने 10 से 15 रन कम बनाए और हमें 10 से कम रन रेट का टारगेट मिला, जिसे हमने आसानी से चेज़ कर लिया.

Source: jagran

नटराजन ने सीरीज़ में झटके सबसे ज्यादा विकेट 

तेज़ गेंदबाज़ टी नटराजन ने 3 मैचों की इस 'टी 20 सीरीज़' में सबसे अधिक 6 विकेट झटकाये. नटराजन ने सीरीज़ में अपनी शानदार गेंदबाज़ी से सभी को काफ़ी प्रभावित किया है. नटराजन ख़ासकर अपनी सटीक यॉर्कर के लिए मशहूर हो रहे हैं.

Source: ndtv

बता दें कि टी. नटराजन को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले गए आख़िरी वनडे में डेब्यू का मौका मिला था. इस दौरान उन्होंने 2 महत्वपूर्ण विकेट झटके थे. इसके बाद नटराजन ने पहले टी-20 मैच में भी 3 विकेट झटकर भारत को जीत दिलाई थी. लेकिन धमाकेदार बल्लेबाज़ी करने वाले पांड्या को 'मैन ऑफ़ द मैच' दिया गया था.