'किंग ऑफ़ स्टंपिंग' के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी विकेट के पीछे अपनी चतुर विकेटकीपिंग के लिए जाने जाते हैं. धोनी विकेट के पीछे खड़े हों और बल्लेबाज़ क्रीज़ से बाहर निकलकर बॉल मिस कर दे, तो उसका पवेलियन लौटना 100 फ़ीसदी तय मना जाता है.  

Source: espncricinfo

क्रिकेट का कोई भी फ़ॉर्मेट हो धोनी विकेट के पीछे कमाल करते थे. ये धोनी का ही ख़ौफ़ था कि गेंद हिट करने के लिए बल्लेबाज़ों को क्रीज़ से बाहर निकलने से पहले सौ बार सोचना पड़ता था. यही कारण है कि वनडे क्रिकेट में धोनी के नाम सर्वाधिक स्टंपिंग (123) का रिकॉर्ड दर्ज़ है.   

Source: sportzwiki

महेंद्र सिंह धोनी ने 90 टेस्ट मैचों में 256 कैच व 38 स्टंपिंग किए हैं. 350 वनडे मैचों में 321 कैच व 123 स्टंपिंग किए, जबकि 98 टी-20 मैचों में 57 कैच व 34 खिलाड़ियों को स्टंप आउट किया है. धोनी तीनों फ़ॉर्मेट में सर्वाधिक 195 स्टंपिंग करने वाले विकेटकीपर हैं.  

Source: crictracker

विश्व कप में सबसे अधिक स्टंपिंग के मामले में कुमार संगकारा (54) और एडम गिलक्रिस्ट (52) के बाद महेंद्र सिंह धोनी (33) तीसरे नंबर पर हैं.  

Source: crictracker

चलिए धोनी की ये 15 स्टंपिंग देखिये, जिनसे अंदाज़ा हो जायेगा कि वो विकेट के पीछे हाथ नहीं, मशीन चलाते हैं-  

वीडियो-