साल 1983 में भारतीय क्रिकेट टीम जब 'वर्ल्ड कप' खेलने इंग्लैंड के लिए रवाना हुई थी, तो किसी ने सोचा भी नहीं था कि ये टीम वर्ल्ड कप जीत पायेगी. लेकिन कपिल देव की कप्तानी वाली इस युवा टीम ने क्रिकेट पंडितों की भविष्यवाणी को फ़ेल करते हुए 'वर्ल्ड कप' अपने नाम किया था.

Source: bhaskar

तत्कालीन प्रधानमंत्री इंडिया गांधी ने 'वर्ल्ड कप' विजेता टीम इंडिया का भव्य स्वागत किया था. इस दौरान देश के कोने-कोने में कपिल देव की इस विश्व विजेता सेना की वाहवाही हो रही थी. इस दौरान टीम के सभी खिलाड़ियों को कई तरह के सम्मान मिले थे.

Source: bhaskar

इस बीच 'वर्ल्ड कप' विजेता भारतीय टीम की 'पे स्लिप' सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. जानना चाहते हैं खिलाड़ियों को कितने पैसे मिले थे?

Source: crictracker

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज़ राजा ने '1983 विश्व कप' विजेता भारतीय टीम की पे स्लिप ट्विटर पर शेयर की है. इस दौरान रमिज़ ने ट्वीट करते हुए लिखा, मुझे आज भी याद है हम 1986-87 में भारतीय दौरे पर थे. इस दौरान मैंने 5 टेस्ट और 6 वनडे मैच खेले थे जिसके लिए मुझे 55,000 रुपये मिले थे.

इस ट्वीट के साथ रमीज़ राजा ने साल 1983 'वर्ल्ड कप' विजेता भारतीय टीम की एक पे स्लिप भी शेयर की है. इस पे स्लिप से साफ़ पता चलता है कि 'विश्व कप' के दौरान बीसीसीआई द्वारा खिलाड़ियों को प्रतिदिन 1500 और 600 रुपये के भत्ते का भुगतान किया गया था.

Source: twitter

इसके विपरीत बीसीसीआई आज दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बन चुका है. आज भारतीय खिलाड़ियों को सालाना करोड़ों रुपये दिए जाते हैं. बोर्ड से केंद्रीय अनुबंध के तहत A+ ग्रेड वाले खिलाड़ियों को सालाना 7 करोड़ रुपये मिलते हैं. इस श्रेणी में 3 खिलाड़ी विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह हैं.