महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट जगत की कितनी बड़ी हस्ती हैं, इसे बताने की ज़रूरत नहीं है. धोनी उन क्रिकेटर्स में से एक हैं, जिनकी सालाना कमाई करोड़ों में हैं. ऐसे में जब उन पर 1,800 रुपये बक़ाये की ख़बर आए तो हर किसी को ये बात अजीब लगना लाज़मी है.  

Source: sundayguardianlive

लेकिन झारखंड राज्य क्रिकेट संघ (JSCA) की वार्षिक रिपोर्ट तो कुछ ऐसा ही कह रही है. पूर्व भारतीय कप्तान धोनी जिनकी मार्च 2020 तक की कुल संपत्ति लगभग 800 करोड़ रुपये थी, उन पर JSCA का 1,800 रुपये का बक़ाया है. ये आंकड़ा राज्य इकाई की 2019-20 वार्षिक रिपोर्ट में रविवार को ऑनलाइन वार्षिक आम बैठक के दौरान जारी किया गया है.  

बक़ाए के पीछे ये है वजह  

दरअसल, धोनी को पिछले साल एसोसिएशन का आजीवन सदस्य बनाया गया था. उस समय महेंद्र सिंह धोनी ने सदस्यता शुल्क के 10 हज़ार रुपये का भुगतान किया था. जिस पर 18 फ़ीसदी जीएसटी लगा है, जो अभी भी बकाया है.   

Source: icc

JSCA के सचिव संजय सहाय ने The New Indian Express को बताया, ‘धोनी की आजीवन सदस्यता पर ये (देय) जीएसटी शेष है. इस संबंध में हमारी उनसे पहली ही चर्चा हो चुकी थी.’  

बता दें, चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान को राज्य संघ का आजीवन सदस्य बनाने का प्रस्ताव पिछले साल सितंबर में प्रबंधन समिति के सामने रखा गया था और अगले महीने एसोसिएशन की वार्षिक आम बैठक में इसे मंजूरी दे दी गई थी. 39 वर्षीय धोनी को आख़िरकार पिछले महीने आजीवन सदस्यता मिल गई थी.   

Source: indianexpress

दिलचस्प बात ये रही कि सचिव सहाय ने वर्चुअल मीटिंग की शुरुआत धोनी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के फ़ैसले से की और उन्होंने धोनी को भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दीं.