भारत में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. लेकिन उचित अवसर नहीं मिल पाने की वजह से कई प्रतिभाशाली युवा गुमनामी की ज़िंदगी जीने को मज़बूर हो जाते हैं, लेकिन राजस्थान के जोधपुर की रहने वाली 11 वर्षीय पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) किस्मत की धनी हैं. जोधपुर के बिश्नोइयान गांव की रहने वाली पूजा एथलीट हैं. जिस उम्र में बच्चे ठीक से चलना भी नहीं सीख पाते हैं उस उम्र में पूजा ने दुनिया की सबसे बेहतरीन एथलीट बनने की दिशा में कदम बढ़ा दिए थे और आज उन्हें भारत की 'उसैन बोल्ट' के नाम से भी जाना जाता है.

ये भी पढ़ें: दुनिया के सबसे तेज़ धावक उसेन बोल्‍ट जितना तेज़ दौड़ते थे, उनकी ज़िंदगी भी उतनी ही प्रेरणादायक है

पूजा बिश्नोई, Pooja Bishnoi
Source: twitter

कौन है पूजा बिश्नोई?

11 साल की पूजा बिश्नोई ​(Pooja Bishnoi) जोधपुर ज़िले के गांव गुड़ा बिश्नोईयान के किसान अशोक बिश्नोई व मीना देवी की बेटी हैं. 10 अप्रैल 2011 को जन्मी पूजा का छोटा भाई कुलदीप भी एथलीट है. पूजा जोधपुर की 'राजमाता कृष्ण कुमारी स्कूल' में पांचवीं कक्षा में पढ़ रही है. पूजा बिश्नोई ने 3 साल की उम्र से एथलीट बनने की तैयारियां शुरू कर दी थी. पूजा, महेंद्र सिंह धोनी के साथ Boost के विज्ञापन में नज़र आ चुकी हैं.

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) इन दिनों इसलिए भी सुर्ख़ियों में हैं क्योंकि उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली को धन्यवाद दिया है. दरअसल, हाल ही में 11 साल की पूजा का 5वीं का रिजल्ट आया था. इसके बाद उसने ट्विट करते हुये बताया कि वो 76.17% के अंकों के साथ पास हो गई है. अपने ट्वीट में उन्होंने विराट कोहली का जिक्र भी किया है. 

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) के ट्विटर पर रिपोर्टकार्ड का स्क्रीनशॉट शेयर कर विराट कोहली को टैग करते हुए लिखा, 'आज मेरे 5th क्लास का रिज़ल्टआया है और मेरे 76.17% अंक आए हैं. विराट कोहली सर को धन्यवाद देती हूं कि उन्होनें मुझे देश के 2nd रैंक वाले स्कूल में एडमिशन दिलाया, थैंक्यू'.

'विराट कोहली फ़ाउंडेशन' कर रहा है मदद

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) के एथलीट बनने के जुनून को देखकर 'विराट कोहली फ़ाउंडेशन' उनकी यात्रा, न्यूट्रिशन, ट्रेनिंग आदि का सारा खर्च उठा रहा है. इसके अलावा विराट कोहली के फाउंडेशन ने पूजा को जोधपुर में फ्लैट भी दिलवाया है, जहां वो अपने मामा के साथ रहती हैं. जोधपुर के विभिन्न खेल मैदानों में पूजा यूथ ओलंपिक की तैयारियों में जुटी है.

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi)

Pooja Bishnoi With Virat Kohli
Source: twitter

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) की उपलब्ध्यिां

1- 5 साल की उम्र सिक्स-पैक एब्स वाली दुनिया की सबसे युवा लड़की.


2- 8 साल की उम्र में 3 किमी की दौड़ 12.50 मिनट में पूरी कर अंडर 10 विश्व रिकॉर्ड.

3- 6 साल की उम्र में 48 मिनट में 10 किमी की दौड़ पूरी की.

4- दुबई सरकार द्वारा 'आयरन अवार्ड' से सम्मानित किया जा चुका है.

5- साल 2019 के 'वीर दुर्गदास राठौर पुरस्कार' से सम्मानित.

6- फ़िटनेस मॉडल के तौर पर मशहूर. 

पूजा बिश्नोई, Pooja Bishnoi
Source: twitter

रोजाना 8 घंटे करती प्रैक्टिस

पूजा बिश्नोई (Pooja Bishnoi) बताती हैं कि, 'इस वक्त उनका पूरा ध्यान अपनी तैयारियों और पढ़ाई पर है. वो हर रोज सुबह 3 बजे उठ जाती हैं. इसके बाद 3 से 4 घंटे प्रैक्टिस करने के बाद सुबह 7 बजे स्कूल चली जाती हैं. स्कूल से लौटने के बाद शाम को क़रीब 5 घंटे की रनिंग करती हैं'. 

एथलीट ही नहीं तेज़ गेंदबाज़ भी हैं

बेहतरीन धावक होने के साथ-साथ पूजा बिश्नोई तेज़ गेंदबाज़ भी हैं. उन्हें क्रिकेट से बेहद लगवा है. वो इस साल के अंत में 'यूथ ओलंपिक 2024' की क्वालिफ़ाई प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगी. 12 वर्षीय पूजा बिश्नोई अब 'यूथ ओलंपिक 2024' में हिस्सा लेने के लिए दिन रात कड़ी मेहनत कर रही हैं. 3000 मीटर लॉन्ग रनिंग पूजा बिश्नोई का पसंदीदा इवेंट है. 

सोशल मीडिया पर ज़बरदस्त फैन फ़ॉलोइंग

पूजा बिश्नोई सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. वो इंस्टाग्राम, फ़ेसबुक और ट्विटर पर अपनी तैयारियों से जुड़ी पोस्ट शेयर करती रहती है. महज 11 साल की पूजा की सोशल मीडिया पर ज़बरदस्त फैन फ़ॉलोइंग है. इंस्टाग्राम पर 707k, फ़ेसबुक पर 903K और ट्विटर पर 41.6K फ़ॉलोअर्स हैं.

पूजा बिश्नोई को उनके भविष्य के लिए शुभकामनायें.