3 अगस्त से टीम इंडिया का वेस्ट इंडीज़ दौरा शुरू हो रहा है. वेस्ट इंडीज़ रवाना होने से पहले सोमवार को कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस की. इस दौरान रोहित शर्मा के साथ अनबन की ख़बरों को लेकर विराट खुल कर सामने आए.

press conference of team india
Source: intoday

दरअसल, वर्ल्ड कप के बाद से ही कप्तान विराट और रोहित के बीच मनमुटाव की ख़बरें आ रही थीं. ऐसे में प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान विराट कोहली से पूछा गया कि रोहित से उनके टकराव वाली ख़बर बर बर में कितनी सच्चाई है?

virat and rohit relationship
Source: livehindustan

इस पर विराट कोहली ने कहा कि 'मैं पिछले कुछ समय से इस तरह की ख़बरों को सुनता आ रहा हूं. मुझे नहीं पता कि रोहित और मेरे बीच ये मनगढ़ंत कहानियां कौन बना रहा है. मेरे और रोहित के बीच सब कुछ ठीक है. मुझे नहीं पता कि इसमें किसका क्या फ़ायदा है? इन बेबुनियाद ख़बरों में हमारी निजी ज़िंदगी को भी घसीटा जा रहा है'.

'मैं ड्रेसिंग रूम का माहौल आपको यहां से नहीं बता सकता. मैं सिर्फ़ इतना ही कहना चाहता हूं कि खिलाड़ियों के बीच किसी भी तरह का मनमुटाव नहीं है. अगर टीम के अंदर इस तरह की चीजें होती तो हम वो सब हासिल नहीं कर पाते जो हमने पिछले कुछ सालों में किया है. इंटरनेशनल क्रिकेट में टीम गेम बेहद ज़रूरी होता है'.

वहीं अब विराट को कप्तानी से हटाए जाने को लेकर भी दिग्गज क्रिकेटरों के बीच बहस छिड़ गयी है.

Sunil gavaskar on virat captaincy
Source: circleofcricket

पूर्व कप्तान सुनील गावसकर ने एक अंग्रेज़ी अखबार के कॉलम में लिखा था कि 'हमारी जानकारी के मुताबिक़ विराट कोहली को वर्ल्ड कप तक के लिए ही टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया था. इसके बाद सिलेक्टर्स को मीटिंग बुलानी चाहिए थी. वो बात अलग है कि ये मीटिंग सिर्फ़ 5 मिनट ही चलती, लेकिन ऐसा होना चाहिए था'.

इस पर संजय मांजरेकर ने कहा, 'मैं बहुत सम्मान के साथ चयनकर्तओं और विराट को कप्तान बनाए रखने की गावसकर सर की राय से सहमत नहीं हूं. वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया था, टीम ने 7 मैच जीते और 2 हारे. चयनकर्ता के रूप में पद से ज़्यादा ज़रूरी गुण ईमानदारी होती है'.