ICC World Cup 2019 की ओपनिंग सेरेमनी से पहले सभी 10 क्रिकेट टीम्स के कप्तान क्वीन एलिज़ाबेथ और प्रिंस हैरी से मिले थे. बकिंघम पैलेस में हुए इस गेट-टुगेदर में विश्व कप में भाग ले रही सभी 9 टीमों के कप्तान सूट पहनकर पहुंचे थे. लेकिन पाकिस्तान के कप्तान सरफ़राज़ अहमद ने अपने देश की नेशनल ड्रेस पहनकर कार्यक्रम में शिरकत की. इसी वजह से ट्विटर पर लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया.

सरफ़राज़ ने पाकिस्तानी पोशाक कुर्ता और पायजामा पहना था. इसके ऊपर उन्होंने टीम का ब्लेज़र डाला था. पाकिस्तान में उनके इस कदम की काफ़ी सराहना हो रही थी. लेकिन कुछ लोगों ने इसे लेकर सरफ़राज़ का ट्विटर पर मज़ाक उड़ाना शुरू कर दिया.

इसमें मुस्लिम बुद्धिजीवी तारेक फ़तेह का नाम भी शामिल है. उन्होंने ट्विटर पर इस मीटिंग की एक फ़ोटो शेयर करेत हुए लिखा कि, 'इस तरह के अवसर पर कौन पायजामा पहनकर जाता है.'

इसके बाद तारेक फ़तेह ने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि, 'सारे कप्तान सूट-बूट पहनकर आए थे, लेकिन पाकिस्तानी कप्तान नहीं. मैं हैरान हूं कि वो लुंगी, बनियान और टोपी पहनकर नहीं आए '

उनके इस ट्वीट पर भारत की जनता ने तारेक फ़तेह को आईना दिखाने का काम किया. ट्विटर पर सैंकड़ों भारतीय लोगों ने सरफ़राज़ को सपोर्ट करते हुए ट्वीट किए. एक्ट्रेस गौहर खान ने भी सरफ़राज़ का सपोर्ट किया है. आप भी देखिए:

अपनी पोशाक पर उठ रहे सवालों का जवाब भी, सरफ़राज़ ने ख़ुद ही दिया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- 'ये हमारी नेशनल ड्रेस है. इसे प्रमोट करने के लिए हमारे क्रिकेट बोर्ड से निर्देश मिले थे. बाकी के जितने कैप्टन थे उन्होंने शूट पहना हुआ था, लेकिन मैंने अपनी नेशनल ड्रेस. ऐसा कर मुझे काफ़ी गर्व हुआ.'

ये 21वीं सदी है और आप किसी के कपड़ों को लेकर उसका मज़ाक नहीं उड़ा सकते. किसी को भी वो पहनने की आज़ादी है, जो उसे पसंद है. सरफ़राज़ ने ऐसा किया तो क्या ग़लत किया है?