हम सबकी नज़रें इस समय भारत-न्यूज़ीलैंड सेमीफ़ाइनल पर ही लगी हुई हैं लेकिन इस बीच एक ऐसी ख़बर भी आयी है, जिसके बारे में अधिकतर लोगों को मालूम ही नहीं है.

Source: amarujala

हम बात कर रहे हैं भारतीय फ़ुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री की. छेत्री को इस साल का सर्वश्रेष्ठ पुरुष फ़ुटबॉल खिलाड़ी चुना गया है. इसके साथ ही Captain Fantastic के नाम से मशहूर छेत्री, छठी बार बेस्ट फ़ुटबॉलर का अवॉर्ड जीत चुके हैं.

Source: ndtv.com

अखिल भारतीय फ़ुटबॉल महासंघ (AIFF) ने मंगलवार को साल 2018-19 के लिए अपने वार्षिक पुरस्कारों का ऐलान किया. इस दौरान राष्ट्रीय टीम के कप्तान, छेत्री ने छठी बार ये ख़िताब जीता है. जबकि महिलाओं में आशा लता देवी साल की सर्वश्रेष्ठ फ़ुटबॉल खिलाड़ी चुनी गई.

Source: indiatoday

सुनील छेत्री ने इससे पहले भी साल 2007, 2011, 2013, 2014 और 2017 में ये अवॉर्ड अपने नाम किया था. छेत्री के अलावा आईएम विजयन, बाइचुंग भूटिया व जो पॉल एंचेरी को भी तीन-तीन बार ये अवॉर्ड मिल चुका है.

Source: vice.com
अवॉर्ड पाने के बाद छेत्री ने कहा, 'इसे ICL और I-League के प्रशिक्षकों ने मिलकर चुना है इसलिए ये अवॉर्ड मेरे लिए बेहद ख़ास है. मैं अपने क्लब के साथियों, प्रशिक्षकों, साथी खिलाड़ियों और राष्ट्रीय टीम के स्टाफ़ का शुक्रिया अदा करता हूं'.
Source: 90min

सुनील छेत्री भारत के लिए 109 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी हैं. उनसे पहले बाईचुंग भूटिया 107 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं. सुनील छेत्री 'इंडियन सुपर लीग' में बेंगलुरु एफ़सी की ओर से खेलते हैं.

एक्टिव फ़ुटबॉल खिलाड़ियों की बात करें, तो वर्तमान में सुनील छेत्री 70 गोल के साथ पुर्तगाल के दिग्गज क्रिस्टियानो रोनाल्डो (149) गोल के बाद सबसे ज़्यादा गोल दागने वाले अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी हैं.

Source: kreedon

क्रिकेट में जो मुकाम धोनी और विराट ने हासिल किया है, भारतीय फ़ुटबॉल में वही मुकाम सुनील छेत्री ने भी हासिल किया है. कप्तान के तौर पर इंडियन फ़ुटबॉल को आगे ले जाने में सुनील छेत्री का बहुत बड़ा योगदान रहा है.

इन्हें भी मिला अवॉर्ड

एआईएफ़एफ़ ने इस साल के उभरते पुरुष खिलाड़ी का पुरस्कार अब्दुल सहल को दिया है. जबकि महिलाओं में ये पुरस्कार डेंगमेई ग्रेस को दिया गया. सर्वश्रेष्ठ रेफ़री का अवॉर्ड तमिलनाडु के आर. वेंकटेश को मिला है जबकि जोसेफ़ टोनी को सर्वश्रेष्ठ सहायक रेफ़री का अवॉर्ड मिला.