अमेरिका में चल रहे 'यूएस ओपन' के दौरान भारत के उभरते टेनिस स्टार सुमित नागल ने बनाया रिकॉर्ड. मंगलवार की सुबह 190वीं रैंक वाले सुमित ने दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी रोजर फ़ेडरर को पहले सेट में 6-4 से हराकर खलबली मचा दी.

Source: indiatoday

हालांकि, सुमित इसके बाद बाकी तीनों सेट 6-1, 6-2, 6-4 से गंवा बैठे. ये मैच 2 घंटे 29 मिनट तक चला. इसके साथ ही सुमित भारत के पहले टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं जो फ़ेडरर के ख़िलाफ़ कोई सेट जीते और गेम को 4 सेट तक ले गए.

पहला सेट 6-4 से हारने के बाद फ़ेडरर ने मैच में शानदार वापसी की. दूसरा सेट 6-1 जबकि तीसरा सेट 6-2 से जीत लिया. लेकिन चौथे सेट में सुमित ने एक बार फिर वापसी की. एक समय सुमित और फ़ेडरर 4-4 की बराबरी पर थे. इसके बाद फ़ेडरर ने अपने अनुभव का फ़ायदा उठाते हुए नागल को 6-4 से हरा दिया.

Source: nytimes

मैच जीतने के बाद ख़ुद फ़ेडरर ने माना कि, मैच बेहद टफ़ था. सुमित ने काफ़ी अच्छे फ़ोरहैंड्स दिखाए. वो एक बेहतरीन युवा खिलाड़ी हैं. उनकी तकनीक शानदार है.

Source: indiatoday

हरियाणा के झज्जर में जन्मे सुमित नागल ने इससे पहले ब्राज़ील के जोआओ मेनेजेस को 5-7, 6-4, 6-3 से हराकर मुख्य दौर के लिए क्वालिफ़ाई किया था.

Source: indianexpress

रोज़र फ़ेडरर के ख़िलाफ़ अब तक सिर्फ़ दो भारतीय रोहन बोपन्ना और सोमदेव देववर्मन ही खेले थे. लेकिन सुमित नागल का प्रदर्शन इन दोनों से कहीं बेहतर था.

Source: thehindu

फ़ेडरर vs भारतीय खिलाड़ी

हाले ओपन (2006) - फ़ेडरर ने रोहन बोपन्ना को 7-6, 6-2 से हराया था.


दुबई चैम्पियनशिप (2011) - फ़ेडरर ने सोमदेव देववर्मन को 6-3, 6-3 से हराया था.

फ़्रेंच ओपन (2013) - फ़ेडरर ने सोमदेव देववर्मन को 6-2, 6-1, 6-1 से हराया था.

यूएस ओपन (2019) - फ़ेडरर ने सुमित नागल को 4-6, 6-1, 6-2, 6-4 से हराया.

Source: ndtv

साल 2015 में विंबलडन (जूनियर) के बॉइज़ डबल्स में चैम्पियन रहे सुमित नागल और 88वीं रैंक वाले प्रजनेश गुणेश्वरन ने इस बार टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले भारतीय थे. साल 1998 के बाद ये पहला मौका है जब दो भारतीय खिलाड़ी किसी 'ग्रैंड स्लैम' के मुख्य ड्रॉ तक पहुंचे.