30 मई से वर्ल्ड कप 2019 की शुरुआत होने जा रही है, उससे पहले आज भारतीय टीम न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ अपना पहला अभ्यास मैच खेलेगी. जबकि 5 जून को साउथ अफ़्रीका से अपना पहला मुक़ाबला खेलेगी.

वर्ल्ड कप से पहले सभी टीमों ने अपनी जर्सी जारी कर दी है. हर बार की तरह इस बार भी टीम इंडिया 'मैन इन ब्लू' बन कर आएंगे. इस बार टीम इंडिया की ड्रेस में थोड़े बहुत बदलाव किये गए हैं. जर्सी ब्लू और ऑरेंज कलर के कॉम्बिनेशन के साथ होगी.

टीम इंडिया की इस जर्सी की ख़ास बात ये है कि इसके कॉलर के अंदरूनी हिस्से में 1983, 2007 और 2011 वर्ल्ड कप जीत के अहम रिकॉर्ड लिखे हुए हैं.

अब इसी जर्सी को लेकर सभी टीमों के लिए एक नई समस्या खड़ी होने जा रही है, जिसके चलते टीम इंडिया को अपनी 'मैन इन ब्लू' वाली जर्सी बदल कर मैदान में उतरना पड़ सकता है.

दरअसल, आईसीसी इस बार सभी टीमों की जर्सी फ़ुटबॉल के जर्सी नियमों की तर्ज़ पर आधारित कर सकती है. फ़ुटबॉल के 'होम' और 'अवे' रूल के तहत सभी टीमें दूसरी जर्सी में भी नज़र आती हैं. जब भी कोई टीम मेज़बान इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच खेलेगी तो वो अपनी दूसरी जर्सी में नज़र आएगी. मेज़बान इंग्लैंड को इसमें राहत मिल सकती है.

हालांकि अभी आईसीसी ने इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की है.