90's वाले क्रिकेट फ़ैन जानते होंगे कि साउथ अफ़्रीका के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी, जॉन्टी रोड्स अपने समय में फ़ील्डिंग के मामले कितने बड़े सूरमा थे. 1992 वर्ल्ड कप में जॉन्टी रोड्स ने जैसे पाकिस्तानी खिलाड़ी इंज़माम-उल-हक़ को रन आउट किया था, उसकी गिनती आज भी बेस्ट रन आउट में होती है. माहौल बन चुका है, अब मुद्दे पर आते हैं. जॉन्टी रोड्स ने भारतीय क्रिकेट टीम के फ़िल्डिंग कोच की पोज़िशन के लिए अप्लाई किया है.

Source: Dawn

BCCI के पदाधिकारी ने पुष्टी करते हुए कहा, 'हां, रोड्स ने अप्लाई किया है और ये भी सही कि वो आज तक किसी अंतरराष्ट्रीय टीम के कोच नहीं रहे हैं. वो 9 सीज़न तक मुंबई इंडियंस के जुड़े रहे और पात्रता मापदंड के अनुसार अगर कोई अंतरराष्ट्रीय टीम का कोच नहीं रहा है, तो कम से कम IPL की किसी भी टीम का तीन सीज़न तक कोच रहा हो.'

Source: Hindustan Times

BCCI पदाधिकारी ने आगे कहा, 'अगर उन्हें इस पद के लिए चुना गया तो MI के साथ उनका काम करने का तज़ुर्बा फ़ायदेमंद होगा. वो समझते हैं कि भारतीय खिलाड़ी कैसे काम करते हैं. उनकी मज़बूती और कमज़ोरियां जानते हैं.'

फ़ील्डिंग कोच के पद के लिए अप्लाई किये गए उम्मीदवारों में जॉन्टी रोड्स अब तक सबसे बड़े नाम और दावेदार हैं.

बता दें कि R. Sridhar वर्तमान में भारतीय टीम के फ़ील्डिंग कोच हैं. भारतीय सपोर्ट स्टाफ़ को 45 दिन का एक्सटेंशन दिया गया है. सभी सपोर्ट स्टाफ़ का कॉन्ट्रैक्ट 2019 वर्ल्ड कप को दौरान ख़त्म हो गया था.