कारगिल वॉर के हीरो रहे नेम सिंह जुरेल के बेटे ध्रुव जुरेल को 'यूथ एशिया कप' में भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया है.

Source: amarujala

आगरा के रहने वाले 18 वर्षीय ध्रुव श्रीलंका में 3 से 15 सितंबर तक खेले जाने वाले 'यूथ एशिया कप' में भारतीय अंडर-19 टीम की अगुवाई करेंगे. दाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज़ ध्रुव अंडर-19 में भारत के लिए कई मैच खेल चुके हैं.

Source: amarujala

ध्रुव के पिता नेम सिंह जुरेल कारगिल वॉर के हीरो रह चुके हैं. जाट रेजिमेंट के जवान नेम सिंह ने कारगिल वॉर के दौरान अपनी रेजिमेंट के लिए साहसिक कार्य किये थे. ध्रुव के पैदा होने से एक साल पहले तक वो कारगिल में देश के लड़ रहे थे. नेम सिंह चाहते थे कि बेटा National Defence Academy (NDA) जॉइन करे, लेकिन ध्रुव को बचपन से ही क्रिकेट से प्यार था.

Source: amarujala

ध्रुव हाल ही में भारत, इंग्लैंड और बंग्लादेश के बीच इंग्लैंड में खेली गयी अंडर-19 त्रिकोणीय सीरीज़ के दौरान भारतीय टीम के अहम बल्लेबाज़ साबित हुए. ध्रुव ने फ़ाइनल में बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 59 रनों की नाबाद पारी खेलकर टीम को जीत दिलाई थी. इस दौरान ध्रुव 5 मैचों में 56.66 की शानदार औसत से 170 रन बनाए.

Source: amarujala

आगरा की 'स्प्रिंगल क्रिकेट एकेडमी' में क्रिकेट की बारीकियां सीखने वाले ध्रुव जुरेल अंडर-19 क्रिकेट में अब तक विकेटकीपर-बल्लेबाज़ के तौर पर 22 पारियों में कुल 1,010 रन और 55 कैच ले चुके हैं.

Source: amarujala

ध्रुव 21 गेंदों में लगा चुके हैं शतक

साल 2018 में यूपी की ओर से 'कूच विहार ट्राफ़ी' में खेलते हुए 11 मैचों में 3 शतकों के साथ कुल 762 रन बनाए. जबकि विकेट के पीछे 51 शिकार भी किए. उनके शानदार प्रदर्शन से यूपी कूच विहार ट्राफ़ी विजेता बना.


साल 2017 में दिल्ली, मध्य प्रदेश और आगरा के बीच हुई टी-20 सीरीज़ के दौरान ध्रुव ने 21 गेंदों पर 100 जमाया था. इस टूर्नामेंट में वो 'मैन ऑफ़ द सीरीज़' रहे.

साल 2015 में यूपी की ओर से अंडर-14 'राज सिंह डूंगरपुर ट्राफ़ी' खेले. इस दौरान उन्होंने 3 मैचों में 152 रन बनाए. फ़ाइनल मैच में मध्य प्रदेश के ख़िलाफ़ ध्रुव ने 137 रनों की शानदार पारी खेली थी.

साल 2014 में 'अंडर-17 टी-20 'स्कूल नेशनल क्रिकेट चैंपियनशिप' में बेस्ट बैट्समैन का ख़िताब मिला. इस दौरान ध्रुव ने 6 मैचों में 4 शतक और 2 अर्ध शतकों की मदद से 600 से अधिक रन बनाए थे.

Source: amarujala

ध्रुव जुरेल की कामयाबी पर उनके कोच परवेंद्र यादव का कहना है कि, भारतीय अंडर-19 टीम के कप्तान के रूप में ध्रुव का चयन आगरा की क्रिकेट टीम के लिए एक बड़ी उपलब्धि है. तेज़ बारिश हो या तूफ़ान आए मैदान में आकर प्रैक्टिस करने के उनके जुनून ने ही ध्रुव को यहां तक पहुंचाया है. किसी भी सीरीज़ से लौटने के बाद ध्रुव अगले ही दिन एकेडमी में प्रैक्टिस करते दिखाई देते हैं. इसके साथ ही उनके इस सत्र में यूपी रणजी टीम में खेलने की संभावना भी बढ़ गई है.