इन दिनों अमेरिका की क्रिकेट टीम नेपाल दौरे पर है. बुधवार को काठमांडू में नेपाल और अमेरिका के बीच खेले गए एक वनडे मैच में अमेरिकी टीम 12 ओवरों में महज़ 35 रन पर ऑल आउट हो गई. इसके साथ ही अमेरिका ने वनडे क्रिकेट इतिहास के सबसे छोटे स्कोर की बराबरी कर ली है. इससे पहले ज़िम्बाब्वे की टीम भी ODI में 35 रन पर आउट हो चुकी है. 

नेपाल और अमेरिका के बीच खेले गए इस मैच की सबसे ख़ास बात ये रही कि नेपाल ने मैच छठे ओवर में ही 268 गेंद शेष रहते हुए अपने नाम कर लिया. जो बॉल शेष रहने के मामले में वनडे इतिहास की चौथी सबसे बड़ी जीत है. 

Source: cricketaddictor

मेज़बान नेपाल ने टॉस जीतकर अमेरिका को पहले बैटिंग का मौका दिया. लेकिन नेपाल के स्टार लेग स्पिनर संदीप लामिछाने के सामने अमेरिकी टीम मात्र 12 ओवरों में ही बिखर गयी. संदीप ने 6 ओवरों में 1 मेडन के साथ 16 रन खर्च कर 6 विकेट चटकाए. वनडे क्रिकेट में ये उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. संदीप के अलावा शेष लेफ़्ट आर्म स्पिनर सुषान बिहारी ने भी 5 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए. 

Source: sportzwiki

अमेरिका का एकमात्र बल्लेबाज़ जेवियर मार्शल (16) ही दहाई का आंकड़ा छू पाया, जबकि कप्तान समेत अमेरिका के 4 बल्लेबाज़ अपना खाता भी नहीं खोल पाए. जवाब में नेपाल ने 2 विकेट खोकर पारस खड़का (20*) और दीपेंद्र सिंह ऐरी (15*) के दम पर 8 विकेट से ये मैच अपने नाम कर लिया. 

Source: sportzwiki

अमेरिका से पहले साल 2004 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ ज़िम्बाब्वे की टीम भी 35 रनों पर ऑल आउट हो गयी थी. अब अमेरिका और ज़िम्बाब्वे वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे कम स्कोर बनाने के मामले में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं. 

Source: bangla

दरअसल, आईसीसी ने पिछले कुछ समय में क्रिकेट को बढ़ावा देने के मकसद से कई देशों को इंटरनेशनल स्तर पर टी20 और वनडे क्रिकेट खेलने की मान्यता दे है. सुपर पवार अमेरिका भी इन्हीं देशों में से एक है. अमेरिका में क्रिकेट बेहद कम खेला जाता है. 

ये मैच नेपाल और अमेरिका के बीच 'क्रिकेट वर्ल्ड कप लीग 2 श्रेणी' के तहत खेला गया था.