क्रिकेट अब खेल नहीं बल्कि एक जुनून बन गया है. खेलने वालों से ज़्यादा इसे देखने वालों को बड़ा आनंद आता है. वहीं, क्रीकेट मैच देखने के दीवानों की बात करें, तो आपको ऐसे भी क्रिकेट लवर्स मिलेंगे जो खाना भूल दिन भर टीवी के सामने बैठे सकते हैं. वहीं, कुछ ऐसे भी मिलेंगे जो खेल कहीं भी हो रहा हो, वहां पहुंचने के लिए तैयार रहते हैं. इसी कड़ी में हम आपको बताने जा रहे हैं क्रिकेट के उन 5 दीवानों के बारे में जिनकी कहानी जान आपके हैरत में पड़ जाएंगे.  

1. पर्सी अभयशेखर 

Percy Abeysekera
Source: themercury

श्रीलंका के रहने वाले इस क्रिकेट लवर का नाम है पर्सी अभयशेखर. माना जाता है कि ये शख़्स लगातार 50 सालों तक श्रीलंका की क्रिकेट टीम का सपोर्ट करते देखा गया है. वहीं, इनकी उम्र 75 साल से ज़्यादा बताई जाती है.  

2. चाचा क्रिकेट  

Chacha cricket
Source: thequint

क्रिकेट लवर्स की सूची में पाकिस्तान के चाचा क्रिकेट का नाम भी शामिल है. इनका असली नाम चौधरी अब्दुल जलील है. माना जाता है कि ये पाकिस्तान में होने वाले हर मैच को देखने के लिए पहुंचते हैं. इनके बारे में कहा जाता है कि ये कभी अबू धाबी में ड्राइवर की नौकरी किया करते हैं, लेकिन शारजाह में हुए क्रिकेट मैचों ने इन्हें एक अलग पहचान दी. ये अक्सर, मैच के दौरान पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के सपोर्ट में नारे लगाते पाए जाते हैं.  

3. माथुर फ़ैमिली 

mathur family
Source: bbc

यहां कोई एक नहीं बल्कि पूरा परिवार ही क्रिकेट का जबरा लवर है. कहा जाता है कि 2019 के World Cup में भारत को सपोर्ट करने के लिए ये परिवार सिंगापुर से सीधा इंग्लैंड पहुंच गया था. ये सफ़र इस परिवार ने अपनी गाड़ी से तय किया था. सिंगापुर से इंग्लैड पहुंचने में इन्हें लगभग 48 दिन लगे थे. कहते हैं माथुर परिवार मैच देखने के लिए गाड़ी से 17 देश जा चुके हैं.  

4. सुधीर कुमार गौतम 

Sudhir
Source: hindustantimes

सुधीर, मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के जबरे फ़ैन हैं. मुज़फ्फरपुर के रहने वाले सुधीर 2003 से भारतीय क्रिकेट टीम को सपोर्ट कर रहे हैं. लेकिन, इनके सपोर्ट करने का अंदाज़ कुछ अलग है. ये अपने शरीर पर भारतीय तिरंगे का पेंट कर झंडा लहराते हैं. कहते हैं कि सुधीर, सचीन के इतने बड़े वाले फ़ैन हैं कि वो 2006 में सिर्फ़ साइकिल से लाहौर और 2007 में बांग्लादेश पहुंच गए थे. कहते हैं कि सचीन इनसे मिले भी हैं.

5. रवि कृष्णमूर्ति 

rachin family
Source: indiatimes

रवि कृष्णमूर्ति मूल रूप से बेंगलुरु के रहने वाले हैं, लेकिन वो 2019 में अपनी पत्नि के साथ न्यूज़ीलैंड में जाकर बस गए. कहते हैं भले ही वो विदेश में रह रहे हैं, लेकिन भारत उनके दिल में बसता है. रवि कृष्णमूर्ति क्रिकेट के दीवाने में. जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने अपने दो बेटों का नाम दो फ़ेमस भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी (सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़) के नामों को जोड़कर रखा है रचिन. जानकर हैरानी होगी कि रचिन न्यूज़िलैंड टीम के लिए खेलते हैं.