स्पोर्ट्स में लोगों को अविश्वसनीय तरीके से साथ में लाने की ताकत होती है. सभी लोग मैदान पर या फिर स्क्रीन से चिपके हुए अपने पसंदीदा खिलाड़ी या फिर टीम को कीर्तिमान रचते देखने के लिए उत्साहित रहते हैं. अतीत में कई बार ऐसा हो चुका है जब हमें खेलों में ऐसे-ऐसे प्रदर्शन देखने को मिले, जिन पर पहली बार में लोगों को यकीन ही नहीं हुआ.


आज आपको खेल जगत के कुछ ऐसे ही अभूतपूर्व पलों के बारे में बता देते हैं.

1. Nadia Comaneci का जिमनास्टिक में परफ़ेक्ट 10  

1976 में रोमेनियन एथलीट Nadia Comaneci ने ओलंपिक के इतिहास का जिमनास्टिक में पहला पर्फ़ेक्ट 10 स्कोर हासिल किया था. वो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बन गई थीं.

ये भी पढ़ें: क्रिकेट और फ़ुटबाल ही नहीं, भारत में ये 20 खेल भी खेले जाते हैं. क्या इनके बारे में जानते हैं आप?

2. The Rumble In The Jungle 

30 अक्टूबर 1974 में The Rumble In The Jungle के फ़ाइनल में दुनिया के दो बेस्ट बॉक्सर मोहम्मद अली और George Foreman वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप के लिए लड़ रहे थे. मोहम्मद अली ने उनको नॉकआउट कर दिया था. उस समय ये टेलीविजन की हिस्ट्री में सबसे अधिक बार देखा जाने वाला मैच बन गया था.

ये भी पढ़ें: IPL 2021: आईपीएल इतिहास के वो टॉप 8 बैट्समैन जो बना चुके हैं सबसे ज़्यादा रन

4. साउथ अफ़्रीका की टीम ने चेज किए 434 रन 

South Africa chasing down 434
Source: cricket

2006 का साल था और टी-20 का दौर प्रारंभिक अवस्था में था. लेकिन 12 मार्च 2006 को साउथ अफ़्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी-20 जैसी ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी देखने को मिली. ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग करते हुए साउथ अफ़्रीका को 434 रनों का लक्ष्य दिया. मैच एकतरफा दिख रहा था. सब लोग सोच रहे थे कि ये मैच ऑस्ट्रेलिया जीत चुकी है. लेकिन साउथ अफ़्रीका के बल्लेबाज़ गिब्स और स्मिथ ने ऐसी बल्लेबाज़ी की कि ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ों के होश उड़ गए. साउथ अफ़्रीका ने ये मैच एक गेंद और एक विकेट रहते जीता था.

5. ग्रीस ने जीता यूरो 2004 का कप 

Greece winning the Euro 2004
Source: agonasport

2004 में जब ग्रीस(Greece) की फ़ुटबॉल टीम यूरो कप खेलने उतरी तो सबने कहा था उसके टाइटल जीतने के चांस ना के बराबर हैं. लेकिन हुआ इसका उल्टा. जर्मनी, इटली, स्पेन और इंग्लैंड जैसी धाकड़ टीम्स सेमीफ़ाइनल से पहले ही बाहर हो गईं. उन्होंने फ़ाइनल में पुर्तगाल की टीम को 1-0 से हराकर ख़िताब अपने नाम किया था. 

6. बीजिंग के ओलंपिक में उसैन बोल्ट का 100 मीटर रिकॉर्ड 

जमैका के महान धावक उसैन बोल्ट(Usain Bolt) ने बीजिंग ओलंपिक में 100 मीटर स्प्रिंट का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. उन्होंने ये रेस 9.69 सेकेंड में पूरी की थी. रिकॉर्ड बनाने से पहले जब वो फ़िनिशिंग लाइन पर पहुंचने वाले थे तब वो दर्शकों को देख रहे थे उसे देख हर कोई दंग रह गया था. तभी से उन्हें 'लाइटनिंग बोल्ट' कहा जाने लगा था. 

7. माइकल फ़्लेप्स ने तोड़ा गोल्ड मेडल का रिकॉर्ड 

Michael Phelps
Source: biography

बीजिंग ओलंपिक्स 2008 में अमेरिका के स्विमर माइकल फ़्लेप्स ने 8 गोल्ड मेडल जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. उन्होंने Mark Spitz के एक ओलंपिक में 7 गोल्ड मेडल जीतने के रिकॉर्ड को ब्रेक किया था.

8. लिवरपूल ने जीता पांचवी बार यूरोपियन कप

Liverpool clinch the European cup
Source: liverpoolecho

2005 में लिवरपूल(Liverpool) की फ़ुटबॉल टीम ने ग़ज़ब का कमबैक कर सबको हैरान कर दिया. फ़ाइनल मैच में हाफ़ टाइम तक A.C. Milan ने 3 गोल कर दिए थे. लेकिन लिवरपूल ने दूसरे हाफ़ में आते ही 6 मिनट के अंदर 3 गोल कर मैच टाई कर दिया. इस मैच का फ़ैसला फिर पैनेल्टी शूटआउट में हुआ था. जहां लिवरपूल ने A.C. Milan को 3-2 से मात दी.

 9. बेटे ने चोट लगने के बाद पिता की मदद से पूरी की रेस 

1992 के ओलंपिक में पिता-पुत्र के बीच का एक भावुक कर देने वाला पल पूरी दुनिया ने देखा. दरअसल, ब्रिटेन के धावक Derek Redmond 400 मीटर रेस में हिस्सा ले रहे थे. तभी उन्हें हैमस्ट्रिंग इंजरी हो गई. वो ट्रैक पर ही रुक गए फिर लंगड़ाते हुए उन्होंने अपनी रेस को पूरा किया. बेटे को ऐसा करते देख उनके पिता भी उन्हें सहारा देने के लिए ट्रैक पर आ गए. पिता की मदद से Derek ने ट्रैक का रास्ता पूरा किया. ये भावुक क्षण देख हर कोई इमोशनल हो गया था.

10. राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण के बीच हुई 376 रनों की पार्टनरशिप 

 VVS Laxman & Rahul Dravid
Source: twitter

14 मार्च 2001 में पश्चिम बंगाल के ईडन गार्डन में ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के बीच टेस्ट मैच हो रहा था. ऑस्ट्रेलिया लगातार 14 टेस्ट मैच जीत चुका था. इनके विजयी अभियान पर रोक लगाई राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण ने. दोनों जब बैटिंग करने आए तो टीम का स्कोर 254/4 था और इसे दोनों ने मिलकर 589/4 तक पहुंचाया. पूरे एक दिन और 90 ओवर्स इन दोनों बैट्समैन ने खेले. इनकी बदौलत ही इंडिया ये टेस्ट मैच जीत पाया था.

इनमें से आपका सबसे यादगार लम्हा कौन-सा है कमेंट बॉक्स में हमसे ज़रूर शेयर करना.