मुथैया मुरलीधरन स्पिन गेंदबाज़ी के लेजेंड कहे जाते हैं. उन्होंने साल 2011 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया था. मुरलीधरन ने अपना आख़िरी टेस्ट मैच भारतीय टीम के ख़िलाफ खेला था और इसी टेस्ट मैच में उन्होंने 800वां विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था

साल 2010 में हुए इस टेस्ट मैच से पहले मुरलीधरन ने टेस्ट से सन्यास लेने का फ़ैसला किया था. तब वो 800 विकेट लेने से महज 8 विकेट दूर थे. तब श्रीलंकन टीम के कप्तान कुमार संगकारा ने उन्हें पूरी सीरीज़ खेलने और अपना रिकॉर्ड बनाने की बात कही थी. इस पर मुरलीधरन ने कहा था कि ये उनका आख़िरी मैच होगा और वो इसी में 8 विकेट लेंगे. उनका ये आख़िरी टेस्ट मैच हमेशा के लिए यादगार बन गया.

muttiah muralitharan
Source: msn

हाल ही में इंडियन स्पिनर आर. अश्विन से एक लाइव शो में बात करते हुए कुमार संगकारा ने ये बात लोगों से शेयर की है. उन्होंने बताया कि मुरलीधरन में ग़ज़ब का आत्मविश्वास था और वो जो कहते थे कर के भी दिखाते थे.

kumar sangakkara
Source: cricketaddictor

उन्होंने कहा- 'वो अपने 800 विकेट के रिकॉर्ड से 8 विकेट दूर था. तब उसने मुझसे कहा कि वो आगामी इंडिया-श्रीलंका सीरीज़ के पहले टेस्ट के बाद रिटायरमेंट लेना चाहते हैं. तब मैंने सेलेक्टर्स के साथ एक मीटिंग बुलाई. इसमें हमने तय किया कि वो जब तक 800 विकेट नहीं ले लेते उन्हें खेलना चाहिए.'

muttiah muralitharan
Source: cricketaddictor

इसके बाद मुथैया मुरलीधरन ने मीटिंग में जो कहा उससे सभी लोग उनके मुरीद हो गए. मुरलीधरन ने कहा- ‘एक बात कहूं मेरे साथ ये काम नहीं करेगा. मैं दुनिया के बेस्ट स्पिनर बॉलर में से एक हूं और मुझे चुनौतियां पसंद हैं. ये मेरा आख़िरी टेस्ट होगा और मैं इसमें 8 विकेट ज़रूर लूंगा. अगर ऐसा नहीं भी होता है तब भी मैं रिटायरमेंट ले लूंगा. अगर ऐसा हुआ तो हम ये टेस्ट मैच भी ज़रूर जीतेंगे.’

muttiah muralitharan
Source: circleofcricket

संगकारा उनकी बात सुनकर हैरान थे और सोच रहे थे कि चैंपियन्स शायद ऐसे ही होते हैं. ख़ैर हुआ भी ऐसा ही. मुथैया मुरलीधरन ने उस मैच में भारत के ख़िलाफ 8 विकेट लिए. उनका 800वां शिकार बने थे प्रज्ञान ओझा. श्रीलंकन टीम ने वो मैच 10 विकेट से जीता था और इस तरह अपने एक शानदार गेंदबाज़ को रिटायरमेंट का तोहफ़ा भी दिया.

muttiah muralitharan
Source: cricketaddictor

मुरलीधरन की रिटायरेमेंट पर न सिर्फ़ उनके टीम मेट्स बल्कि भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने भी उन्हें तालियों के साथ विदा किया था. पूरा स्टेडियम उनके सम्मान में खड़ा था और तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा था.
Sports से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.