इन दिनों साउथ अफ़्रीका में 50 ओवरों का 'अंडर-19 वर्ल्ड कप' खेला जा रहा है. साउथ अफ़्रीका की मेज़बानी में खेले जा रहे अंडर-19 विश्व कप में भारतीय युवा टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर सेमीफ़ाइनल में जगह बना ली है.

Source: sportzwiki

बीते बुधवार को 'सुपर लीग क़्वार्टर फ़ाइनल' के एक अहम मुक़ाबले में न्यूज़ीलैंड और वेस्टइंडीज़ की जूनियर टीमें आपस में भिड़ी. इस दौरान मैदान पर एक ऐसा दृश्य देखने को मिला, जिसने हर क्रिकेट फ़ैंस का दिल जीत लिया.

Source: abplive

साउथ अफ़्रीका के बेनोनी सिटी के 'विलोमूर पार्क' में खेले गए इस अहम मुक़ाबले को न सिर्फ़ न्यूज़ीलैंड की जूनियर टीम ने जीता, बल्कि मैदान पर उनके दो खिलाड़ियों ने सच्ची खेल भावना का परिचय देते हुए वेस्टइंडीज़ के इंजर्ड खिलाड़ी किर्क मैकेंज़ी को अपने कंधों पर उठाकर पवेलियन तक पहुंचाया.

क्रिकेट मैदान पर ऐसा कम ही देखने को मिलता है, जब ताबड़तोड़ रन बना रहे विपक्षी खिलाड़ी को तरह-तरह के कमेंट्स सुनने को न मिले. लेकिन बीते बुधवार को वेस्ट इंडीज़ की पारी के दौरान इसके उलट ही देखने को मिला.

Source: sportzwiki

दरअसल, वेस्टइंडीज़ के युवा बल्लेबाज़ किर्क मैकेंज़ी 99 रन पर बल्लेबाज़ी कर ही रहे थे. इस दौरान 43वें ओवर में क्रैंप के चलते वो मैदान से बाहर चले गए. इसके बाद जब वेस्टइंडीज़ ने अपना 9वां विकेट गंवाया तो मैकेंज़ी एक बार फिर से 48वें ओवर में बल्लेबाज़ी के लिए आए. मगर इस बार वो बिना रन बनाए शतक से चूक गए.

Source: twitter

इस दौरान मैकेंज़ी न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ क्रिस्टियन क्लार्क की एक लेंथ बॉल को बिना अपना पैर हिलाए ड्राइव करना चाहते थे, लेकिन बॉल मिस हो गई और वो क्लीन बोल्ड हो गए. इसके बाद एक बार फिर से उनके पैर में क्रैंप आ गया और वो मैदान पर दर्द से कराहने लगे. इस दौरान मैकेंज़ी चलने की स्थिति में भी नहीं थे. इस हालत को देखकर कीवी टीम के दो खिलाड़ियों ने उन्हें अपने कंधे का सहारा दिया और गोद में उठाकर मैदान से बाहर लेकर आए.

वेस्टइंडीज़ की जूनियर टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए क्रिक की साहसिक 99 रनों की पारी के दम पर 10 विकेट के नुकसान पर 238 रन बनाए. जवाब न्यूज़ीलैंड की जूनियर टीम ने 8 विकेट खोकर मैच जीत लिया.

रोहित शर्मा ने दिया ये रिएक्शन-