पाकिस्तान के बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. हालांकि वो वन-डे और टी-20 खेलते रहेंगे. आमिर ने रिटायरमेंट की जानकारी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दी. 

icc

2009 में पाकिस्तान टेस्ट टीम में शामिल हुए आमिर का करियर काफी अच्छा शुरू हुआ. लेकिन 2010 में मैच फ़िक्सिंग में शामिल होने के कारण उन पर 5 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया. इसके बाद 2016 में एक बार फिर उन्हें पाकिस्तान टीम में मौका मिला, जिसके लिए पाकिस्तान बोर्ड की आलोचना भी हुई थी. 

kashmirreader

अपने संन्यास की घोषणा के दौरान आमिर ने बताया की ‘मुझे क्रिकेट के सबसे पारंपरिक प्रारूप में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने पर गर्व है. हालांकि मैंने सीमित ओवर क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अब टेस्ट से संन्यास लेने का फैसला किया है.’ 

आमिर ने अपने टेस्ट करियर में 36 मैच खेले हैं, जिनमें उनका प्रदर्शन शानदार रहा और उन्होंने 119 विकेट अपने नाम किए. 

आईसीसी ने भी आमिर के संन्यास की घोषणा के बाद ट्वीट किया जिसमें उन्होंने उनके बेहतर भविष्य की भी कामना की. 

हमारी टीम भी उनके आने वाले वक्त के लिए शुभकामनाएं देती है.