ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ टीम इंडिया की ऐतिहासिक जीत का ख़ुमार अब भी जारी है. भारत में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में भी भारतीय टीम की जीत के चर्चे हैं. फ़ैंस टीम इंडिया की इस जीत को अब तक की सबसे बड़ी जीत क़रार दे रहे हैं. ये सच भी है, क्योंकि भारतीय टीम ने ये जीत विपरीत परिस्तिथियों में हासिल की है.  

Source: facebook

भारत की इस ऐतिहासिक जीत के चर्चे पडोसी देश पाकिस्तान में भी ख़ूब हो रहे हैं. अक्सर भारत की बुराई करने वाली पाकिस्तानी मीडिया इन दिनों टीम इंडिया का गुणगान कर रही है. पूर्व क्रिकेटर हो या फ़ैंस हर कोई इसे क्रिकेट इतिहास की सबसे बड़ी जीत बता रहे हैं.  

ऑस्ट्रेलिया में खेली 4 टेस्ट मैचों की ये सीरीज़ कई मायनों में ख़ास रही. ऑस्ट्रेलिया को उसी की धरती पर हराना सबसे मुश्किल काम होता है, लेकिन टीम इंडिया ने दिखा दिया कि अगर हौसले बुलंद हों तो मंज़िल आसान हो जाती है.  

Source: aajtak

एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 36 रनों पर ऑल आउट होने के बावजूद सीरीज़ में 2-1 से जीत हासिल करना अपने आप में बड़ी उपलब्धि है. पहले टेस्ट के बाद कप्तान कोहली भारत लौट आये थे. इसके बाद भारतीय खिलाड़ियों के चोटिल होने का सिलसिला जारी हो गया. विराट, रोहित और चोटिल शमी की अनुपस्तिथि में टीम इंडिया के लिए सीरीज़ बचाना मुश्किल हो रहा था. 

Source: aajtak

इसके बाद अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में भारत ने मेलबर्न टेस्ट में शानदार जीत हासिल कर सीरीज़ में बराबरी की. इस दौरान उमेश यादव और केएल राहुल भी चोटिल होने के कारण सीरीज़ से बहार हो गए. तीसरा टेस्ट दोनों टीमों के लिए बेहद अहम था. इस दौरान टीम इंडिया के कुछ खिलाड़ियों को नस्लभेदी टिप्पणियों का शिकार होना पड़ा.  

Source: aajtak

ऑस्ट्रेलिया ने दोनों इनिंग में शानदार खेल दिखाया, लेकिन चौथी पारी में ऋषभ पंत, आर. आश्विन और हनुमा विहारी चोट के बावजूद मैदान पर टिके रहे. इस दौरान टीम इंडिया ने ऑस्ट्रलिया के जीत के सपने को चकनाचूर करते हुए मैच ड्रॉ करा दिया. टीम इंडिया ने टेस्ट मैच तो ड्रॉ करा लिया, लेकिन ये मैच भारत के लिए बेहद नुक्सानदायक साबित हुआ. रविंद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, आर. आश्विन और हनुमा विहारी चोट के चलते सीरीज़ से बाहर हो गए.  

Source: aajtak

आख़िरी और निर्णायक टेस्ट तक भारतीय टीम आधी हो चुकी थी. विराट, बुमराह, जडेजा, बुमराह, आश्विन और हनुमा विहारी टीम से बाहर थे. ऑस्ट्रेलियाई टीम पूरे जोश के साथ सीरीज़ जीतने के लिए आश्वस्त थी, लेकिन टीम इंडिया के खेमे में निराशा थी. टीम का कॉन्फ़िडेंस पूरी तरह से डाउन हो चुका था.  

Source: aajtak

आख़िरकार गाबा (ब्रिस्बेन) में चौथे टेस्ट मैच की शुरुआत हुई. एक तरफ़ थी ऑस्ट्रेलिया की मज़बूत टीम, तो दूसरी तरफ़ थी भारत की युवा ब्रिगेट. पहली इनिंग में ऑस्ट्रेलिया ने 369 रन बनाए, जवाब में भारत ने पुछल्ले बल्लेबाज़ों के दम पर 336 रन बनाए. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 294 रन बनाकर भारत को 328 रनों का टारगेट दिया. इस