आज हम आपको भारत के एक ऐसे चैंपियन खिलाड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका नाम सुनते ही अधिकतर लोग बगलें झांकने लगेंगे. ये चैंपियन खिलाड़ी भले ही भारत में क्रिकेटरों की तरह फ़ेमस न हों, लेकिन वर्ल्ड स्नूकर और बिलियर्ड्स में इनका नाम ही काफ़ी है. 

इस चैंपियन खिलाड़ी का नाम है पंकज आडवाणी. पंकज 23 बार स्नूकर और बिलियर्ड्स के वर्ल्ड चैंपियन रह चुके हैं. 

aajtak

दरअसल, क्रिकेट में जो मुक़ाम सचिन ने हासिल किया है. स्नूकर और बिलियर्ड्स में वही मुक़ाम पंकज आडवाणी ने भी हासिल किया है. पंकज आडवाणी स्नूकर और बिलियर्ड्स के वर्ल्ड चैंपियन हैं. 

indiatvnews

पंकज आडवाणी ने साल 2002 में बेंगलुरु में आयोजित ‘एशियन बिलियर्ड्स चैंपियनशिप’ के दौरान इंटरनेशनल डेब्यू किया था. इस दौरान वो फ़ाइनलिस्ट रहे थे. साल 2003 में पंकज ‘एमेच्योर स्नूकर’ चैंपियन बने. इसके बाद साल 2005 में उन्होंने ‘IBSF वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियनशिप’ का ख़िताब अपने नाम किया. साल 2008 में बार फिर से इस ख़िताब के चैंपियन बने. 

ndtv

पंकज रिकॉर्ड 8 बार ‘इंग्लिश बिलियर्ड्स’ ख़िताब जीतने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी भी हैं. इसके साथ ही पंकज एक सीज़न के सभी 5 क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और विश्व बिलियर्ड्स टूर्नामेंट जीतने वाले दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी भी हैं. उन्होंने ये उपलब्धि ‘भारतीय जूनियर नेशनल चैंपियनशिप’ और ‘सीनियर नेशनल चैंपियनशिप’, ‘एशियन बिलियर्ड्स चैंपियनशिप’ और दोनों ‘वर्ल्ड बिलियर्ड्स’ जीतकर हासिल की है. 

पंकज आडवाणी ने साल 2009 डिफ़ेंडिंग चैंपियन और नौ बार के वर्ल्ड चैंपियन मार्क रसेल को हराकर ‘वर्ल्ड प्रोफ़ेशनल बिलियर्ड्स चैंपियनशिप’ का ख़िताब अपने नाम किया था. पंकज ‘WPBSA वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियन प्रो टाइटल’, ‘IBSF वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियन एमेच्योर टाइटल’ और IBSM वर्ल्ड स्नूकर चैंपियन एमेच्योर टाइटल’ जीतने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी भी हैं. 

mykhel

पंकज आडवाणी साल 2012 में प्रोफ़ेशनल स्नूकर और बिलियर्ड्स खिलाड़ी बने थे. इस साल अक्टूबर में उन्होंने इंग्लैंड में आयोजित वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम किया. जबकि साल 2014 में पंकज ने ‘IBSF वर्ल्ड 6-रेड स्नूकर चैंपियनशिप’ का ख़िताब भी जीता.   

news

पंकज आडवाणी ने इसी साल सितंबर माह में म्यांमार के मांडले में ‘150-अप’ प्रारूप में लगातार चौथे ‘IBSF वर्ल्ड बिलियर्ड्स ख़िताब’ के साथ अपने करियर का 22वां विश्व ख़िताब जीता. बिलियर्ड्स के छोटे प्रारूप में ये पंकज का पिछले 6 साल में पांचवां ख़िताब है. 

पिछले 17 सालों में ये रहा पंकज का अब तक सफ़र- 

साल 2003 में 3 टाइटल

साल 2004 में 1 टाइटल
साल 2005 में 6 टाइटल
साल 2006 में 1 टाइटल
साल 2007 में 1 टाइटल
साल 2008 में 2 टाइटल
साल 2009 में 2 टाइटल
साल 2010 में 2 टाइटल
साल 2012 में 2 टाइटल
साल 2014 में 3 टाइटल
साल 2015 में 3 टाइटल
साल 2016 में 1 टाइटल
साल 2017 में 2 टाइटल
साल 2018 में 4 टाइटल
साल 2019 में 1* टाइटल

भारत के इस स्टार खिलाड़ी को भविष्य के लिए शुभकामनायें.