ओलंपिक खेलों में युवा दर्शकों और नए कल्चर को ध्यान में रखते हुए कुछ खेलों को शामिल किया गया है. ब्रेक डांसिंग उन 4 खेलों में एक है जिन्हें 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिक खेलों में शामिल किया जाएगा. अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने सोमवार को सर्फ़िंग, स्केटबोर्डिंग और स्पोर्ट्स क्लाइम्बिंग के साथ ब्रेक-डांसिंग को ओलंपिक में शामिल करने की पुष्टि की.

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति का यह कदम ऐसे समय में आया है जब वो खेल प्रायोजकों, प्रसारकों और नौजवानों के बीच प्रासंगिक बने रहने के लिए खेल कार्यक्रमों को नए सिरे से देखने की कोशिश कर रहा है.

Source: olympic.org

यह फ़ैसला अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के नए नियमों के बाद आया है, जिसके मुताबिक़ मेज़बान शहर अपने क्षेत्र में बेहद लोकप्रिय खेलों को शामिल किये जाने के लिए प्रस्तावित कर सकते हैं. हालांकि, अंतिम फ़ैसला ओलंपिक समिति ही लेती है. 

ब्रेक-डांसिंग क्या है?

ब्रेक-डांसिंग या 'ब्रेकिंग' को हिप-हॉप कल्चर का चेहरा माना जाता है जो 1970 के दशक में अमेरिका में चलन में आया. धीरे-धीरे ये अमेरिका से बाहर फैल गया. 

Reuters के अनुसार, 2019 में मुंबई में आयोजित Red Bull BC One World Final को फ़ेसबुक और यूट्यूब सहित कई स्ट्रीमिंग प्लेटफ़ॉर्म्स पर 50 मिलियन से ज़्यादा बार देखा गया.

इसे डांस के साथ-साथ खेल भी माना जाता है. इसमें रचनात्मकता, तकनीकी कौशल के साथ-साथ ताकत, गति, लय भी मायने रखते हैं.