भारतीय विकेटकीपर-बल्लेबाज़ पार्थिव पटेल ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों (टेस्ट, वनडे, टी-20) से रिटायरमेंट ले लिया है. बुधवार को पटेल ने ट्विटर के ज़रिए इस बात की जानकारी दी है.

Source: kultejas

35 वर्षीय पटेल ने 2002 में 17 साल की उम्र में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टेस्ट से डेब्यू किया था. उन्होंने अपने 18 साल के करियर में भारत के लिए 25 टेस्ट, 38 वनडे और दो टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले खेले. उन्होंने आखिरी मैच जनवरी 2018 में साउथ अफ्रीका के ख़िलाफ़ जोहान्सबर्ग टेस्ट खेला था.

पार्थिव ने अपने ट्विटर पोस्ट में कहा, 'आज मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास का एलान कर रहा हूं और इसी के साथ मेरा 18 साल लंबा करियर ख़त्म हो रहा है. मैं कई लोगों का आभार व्यक्त करना चाहता हूं. BCCI ने मुझ पर बहुत विश्वास जताया और 17 साल के एक लड़के को टीम इंडिया के लिए खेलने का मौक़ा मिला.'

इसके साथ ही उन्होंने पूर्व कप्तान और BCCI के मौजूदा अध्यक्ष सौरभ गांगुली का शुक्रिया किया. उन्होंने कहा, 

‘मैं ख़ास तौर पर दादा का आभारी हूं. वे मेरे पहले कप्तान हैं. उन्होंने मुझ पर काफ़ी विश्वास जताया.’

                    - पार्थिव पटेल

पार्थिव भारतीय घरेलू क्रिकेट के एक दिग्गज खिलाड़ी रहे हैं. उन्होंने फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट के 194 मैचों में 27 शतक और 67 अर्धशतक की मदद से 11 हज़ार से अधिक रन बनाए. जनवरी 2017 में गुजरात की टीम ने पार्थिव पटेल की कप्तानी में ही पहली बार रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट जीता था.

Source: news24online

पटेल ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में अपना लोहा साबित किया. उन्होंने मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपर किंग्स, सनराइज़र्स हैदराबाद, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु जैसे टीमों के लिए खेला. 

उन्होंने अपने राज्य और विभिन्न IPL फ़्रेंचाइज़ी के लिए 204 टी20 मैच खेले और 123.84 के स्ट्राइक रेट से 23 अर्धशतकों की मदद से 4,300 रन बनाए.