बीते रविवार को मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच आईपीएल का दूसरा मुक़ाबला खेला गया. इस दौरान मुंबई इंडियंस की तरफ़ से पहला ओवर 17 साल के एक तेज़ गेंदबाज़ ने फेंका था, जिनका नाम है 'रसिख सलाम डार'. फ़ैंस जानना चाहते थे कि आख़िर कौन है ये लड़का जो शिखर धवन जैसे बल्लेबाज़ को अपनी तेज़ गेंदबाज़ी से डरा रहा था.

Source: lokmat.com

तो बता दें कि रसिख सलाम जम्मू-कश्मीर के कुलगाम ज़िले के अश्मुजी गांव से हैं. परवेज़ रसूल के बाद रसिख सलाम आईपीएल में खेलने वाले जम्मू-कश्मीर के दूसरे खिलाड़ी हैं. 17 साल के सलाम ने बीते रविवार को मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ डेब्यू किया था. इस दौरान वो अपने पहले मैच में कुछ ख़ास प्रभाव छोड़ नहीं पाए, लेकिन सलाम ने अपनी तेज़ गेंदबाज़ी से हर किसी को हैरान ज़रूर किया.

पहला ही ओवर था ख़ास  

सलाम को अपने पहले ही आईपीएल मैच में पहला ओवर फेंकने को मिला. उनकी पहली गेंद नो बॉल रही जबकि दूसरी गेंद पर शिखर धवन को आउट कर दिया था लेकिन फ़्री हिट होने के चलते विकेट नहीं मिल पाया. सलाम इसके बाद पूरे मैच में एक भी विकेट नहीं चटका पाए. 4 ओवर में उन्होंने 42 रन ख़र्च किये.

Source: lokmat.com
इस मैच के बाद सलाम ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा- मैं नर्वस था. ऊपरवाले ने चाहा तो अगले मैच में अच्छा परफ़ॉर्म करूंगा. आप सभी का शुक्रिया.

सलाम में क्या ख़ास बात है? 

Source: lokmat.com

'मुंबई इंडियंस' ने सलाम को जनवरी माह में ट्रायल के लिए मुंबई बुलाया था, इस दौरान उन्होंने अपनी तेज़ गेंदबाज़ी से सभी को हैरान कर दिया था. सलाम पेस के साथ-साथ गेंद को स्विंग कराने में भी माहिर हैं, यही इनकी ख़ासियत भी है. यही कारण था कि मुंबई इंडियन ने उन्हें IPL ऑक्शन के दौरान 20 लाख की कीमत में ख़रीदा.

सच तो ये है कि कुछ महीने पहले तक जिस सलाम को लोग जानते तक नहीं थे, वो आज स्टार बन गया है.

आसान नहीं था सफ़र 

Source: cricketcountry

इस तेज़ गेंदबाज ने पिछले साल जम्मू-कश्मीर अंडर-19 टीम में अपना हाथ आज़माया, लेकिन उस वक़्त चयनकर्ताओं ने सलाम को नज़रअंदाज़ कर दिया था. इससे सलाम निराश तो हुए लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत जारी रखी. एक साल बाद ही सलाम अपने राज्य का स्टार क्रिकेटर बन चुका है.

इरफ़ान पठान ने बदली ज़िंदगी  

Source: lokmat.com

भारत के स्टार क्रिकेटर इरफ़ान पठान के संपर्क में आने के बाद सलाम की ज़िंदगी बदल चुकी है. दरअसल, इरफ़ान ने पिछले साल अगस्त में जम्मू-कश्मीर टीम के मेंटर और खिलाड़ी के तौर नई पारी शुरू की. इरफ़ान पठान ने ज़िला स्तरीय टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने वाले सलाम को एक 'टैलेंट हंट' के दौरान देखा था. इस दौरान इरफ़ान सलाम की गेंदबाज़ी से इस क़दर प्रभावित हुए कि उन्होंने सलाम को राज्य की टीम में जगह दिला दी.

पहली बार चर्चा में कब आए? 

दरअसल, सलाम ने 'विजय हजारे ट्रॉफ़ी' के एक ट्रायल मैच के दौरान हैट्रिक ली थी. इस मैच में उन्होंने कुल 4 विकेट चटकाए. उस वक़्त उनका वो वीडियो वायरल हो गया था. इसके बाद सिलेक्टर्स की नज़रें सलाम की ओर गईं.

खेल चुके हैं रणजी

Source: lokmat.com

सलाम जम्मू-कश्मीर की टीम के लिए अब तक दो 'रणजी' मुक़ाबले खेल चुके हैं, जिसमें उन्होंने 7 विकेट लिए हैं. पिछले साल ही उन्होंने 'विजय हजारे ट्रॉफ़ी (वनडे)' में डेब्यू किया था. जबकि इस साल फरवरी में उन्होंने 'सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (टी-20)' में भी डेब्यू किया. सलाम राज्य स्तरीय क्रिकेट खेले बिना सीधे विजय हजारे ट्रॉफ़ी में प्रवेश पाने वाले जम्मू-कश्मीर के पहले क्रिकेटर हैं.