क्योंकि आपने 'दिल बोले हड़िप्पा' फ़िल्म नहीं देखी होगी इसलिए उसकी कहानी एक लाइन में बता देता हूं- एक लड़की लड़के का भेस बना कर क्रिकेट खेलती है. रील लाइफ़ से मिलती जुलती एक रियल लाइफ़ कहानी है.

Source: India.com

शैफाली वर्मा भारत की सबसे युवा टी20 क्रिकेटर हैं. पिता संजीव वर्मा जब अपनी बेटी के लिए ट्रेनिंग कैंप ढूंढ रहे थे, तब रोहतक में उन्हें एक भी कैंप ऐसा नहीं मिला जिसमें लड़की को क्रिकेट सिखाया जाता हो. उन्होंने कई कैंप में उनकी बेटी को क्रिकेट सिखाने की गुज़ारिश की लेकिन हर जगह असफ़लता हाथ लगी.

शैफाली वर्मा भारत की सबसे युवा टी20 क्रिकेटर हैं. पिता संजीव वर्मा जब अपनी बेटी के लिए ट्रेनिंग कैंप ढूंढ रहे थे, तब रोहतक में उन्हें एक भी कैंप ऐसा नहीं मिला जिसमें लड़की को क्रिकेट सिखाया जाता हो. उन्होंने कई कैंप में उनकी बेटी को क्रिकेट सिखाने की गुज़ारिश की लेकिन हर जगह असफ़लता हाथ लगी.

उन्होंने आगे कहा कि उन्हें डर था कि कोई पहचान न जाए लेकिन नौ साल की उम्र में सभी बच्चे एक जैसे ही लगते हैं.

शैफाली ने पिछले महीने भारत की ओर से T20 में पदार्पण किया. शैफाली की उम्र महज़ 15 साल है. साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ शैफाली को मौका दिया गया. हालांकि उनका पहला मैच यादगार नहीं गया और चार गेंद खेल कर शून्य पर आउट हो गईं लेकिन अगले मैच में मैच जिताऊ पारी खेली और 33 गेंद में 46 रन बनाए.