क्रिकेट में 'द वॉल' के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ किसी परिचय के मोहताज़ नहीं है. भारतीय क्रिकेट टीम को कई बार अपनी शानदार पारियों से मैच जिताने वाले 'मिस्टर डिपेंडेबल' को क्रिकेट इतिहास का सबसे डिसिप्लिन्ड क्रिकेटर माना जाता है. 

Source: cricket

अगर क्रिकेट में रोल मॉडल की बात करेंगे तो राहुल द्रविड़ इसके पहले दावेदार होंगे. राहुल द्रविड़ के बारे में जितना कहा जाए उतना ही कम है. राहुल द्रविड़ न सिर्फ़ भारतीय बल्कि दुनियाभर के युवाओं के लिए भी रोल मॉडल हैं. वो अच्छे खिलाड़ी तो थे ही साथ ही एक अच्छे इंसान भी हैं. युवा क्रिकेटरों को उनसे यही सीखने की ज़रूरत है. 

Source: amarujala

आज देश की युवा पीढ़ी उनके मार्गदर्शन में ही क्रिकेट सीख रही है. ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, शुभमन गिल, सरफ़राज़ ख़ान, ईशान किशन, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी, रेयान पराग जैसे कई युवा भारतीय क्रिकेट में धूम मचा रहे हैं.   

Source: sport360

आज हम उनके एक ऐसे किस्से का ज़िक्र करने जा रहे हैं जिससे ये साबित होता है कि वो असल में एक 'जेंटलमैन क्रिकेटर' हैं.  

दरअसल, ये घटना करीब 15 साल पुरानी है जब राहुल द्रविड़ युवा हुआ करते थे. MTV चैनल पर एक पॉपुलर शो 'MTV बकरा' प्रसारित होता था. जिसमें शो के लोग सेलेब्रिटीज़ के साथ प्रैंक किया करते थे. ऐसा ही एक प्रैंक राहुल द्रविड़ के साथ भी किया गया था.  

Source: fireflydaily

योजना के तहत राहुल द्रविड़ को बताया गया था कि एक न्यूज़ चैनल की रिपोर्टर उनका इंटरव्यू लेना चाहती हैं. द्रविड़ भी इसके लिए राजी हो गए. उनको जिस कमरे में बिठाया जाता उसमें हिडन कैमरे फ़िट कर दिए जाते हैं. इस दौरान शो की ही एक एंकर रिपोर्टर बनकर उनके रूम में पहुंचती है. बाकायदा इस दौरान द्रविड़ का पूरा इंटरव्यू लिया जाता है.  

Source: catchnews

इंटरव्यू ख़त्म होने के बाद रिपोर्टर कैमरामैन को कमरे से बाहर भेज देती है और द्रविड़ से अकेले में बातचीत करने लगती है. प्लान के मुताबिक़ लड़की बातों बातों द्रविड़ से कहती हैं कि वो उनकी बहुत बड़ी फ़ैन है और उनसे शादी करना चाहती है. लड़की की ये बात सुनकर द्रविड़ भड़क जाते हैं. लड़की उन्हें मनाने की कोशिश करती है, लेकिन वो नहीं मानते. कुछ देर बाद लड़की कमरे के बाहर खड़े अपने पिता को बुलाने लगती है. ये सुनकर द्रविड़ लड़की को डांटते हुए कमरे से बाहर निकलने लगते हैं.  

Source: zeenews

इसके बाद लड़की के पिता द्रविड़ को शांत करने कमरे में आते हैं. जैसे तैसे उन्हें सोफ़े पर बिठाते हैं. द्रविड़ तुरंत लड़की से पूछते हैं कि वो कितने साल की हैं. लड़की कहती है 20 साल की. इस पर द्रविड़ लड़की के पिता से कहते हैं कि इनसे कहिए कि वो अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें.  

इसके बाद कमरे में 'MTV बकरा' की टीम भी पहुंच जाती है. द्रविड़ को बताया जाता है कि ये सब फेक है वो इस समय 'MTV बकरा' के शो पर हैं और उनके साथ मजाक किया गया है. इसके बाद राहुल द्रविड़ राहत की सांस लेते हैं. 

'MTV बकरा' की टीम चली तो थी राहुल द्रविड़ को बकरा बनाने उलटा उनकी ईमानदारी के आगे ख़ुद ही बकरा बन गयी.   

हमारा इस घटना का ज़िक्र करने का मकसद बस यही था कि आज के युवा क्रिकेटरों को राहुल द्रविड़ से सीख लेनी चाहिए. जब वो युवा थे तब भी उनमें 'जेंटलमैन क्रिकेटर' वाली सारी ख़ूबियां थीं और आज एक 'मेंटर' के तौर पर भी हैं.