भारत ने ब्रिस्बेन में खेले गए आख़िरी टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हरा दिया है. इसके साथ ही भारत ने 2-1 से सीरीज़ भी जीत ली है. भारत ने लगातार दूसरी बार ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज़ में पटखनी दी है. भारत ने 32 साल बाद ऑस्ट्रेलिया को गाबा (ब्रिस्बेन) में पटखनी दी है. ऑस्ट्रेलिया ब्रिस्बेन में 33 साल से हारा नहीं था.  

ब्रिस्बेन टेस्ट में जीत टीम इंडिया के लिए इसलिए भी ख़ास है क्योंकि विराट कोहली, केएल राहुल, हार्दिक पंड्या, आर. अश्विन, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव और हनुमा विहारी की अनुपस्तिथि के बावजूद टीम इंडिया के युवाओं ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की.

Source: facebook

ब्रिस्बेन टेस्ट के रियल हीरो रहे ये 5 युवा खिलाड़ी  

1- ऋषभ पंत (विकेटकीपर) 

पिछले 1 साल से लगातार ख़राब फ़ॉर्म के चलते टीम से अंदर बाहर रहे ऋषभ पंत ब्रिस्बेन टेस्ट के 'रियल हीरोज़' में से एक थे. उन्होंने दूसरी पारी में 89 रनों की नाबाद मैच जिताऊ पारी खेलकर भारत को ऐतिहासिक जीत दिलाई. पंत ने ब्रिस्बेन टेस्ट में कुल 112 रन बनाये और विकेट के पीछे 4 कैच भी लपके.  

Source: aajtak

2- शार्दुल ठाकुर (तेज़ गेंदबाज़) 

ब्रिस्बेन टेस्ट की पहली पारी में शार्दुल ठाकुर और वॉशिंगटन सुंदर के बीच हुई 123 रनों की साझेदारी इस मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुई. इस दौरान शार्दुल 7 वें नंबर पर बल्लेबाज़ी करते हुए 67 रनों की शानदार पारी खेली. गेंदबाज़ी में भी उन्होंने पहली पारी में 3 विकेट, जबकि दूसरी पारी 4 विकेट झटका.  

Source: indiatoday

3- शुभमन गिल (ओपनर) 

ब्रिस्बेन टेस्ट की पहली पारी में शुभमन गिल केवल 7 रन ही बना पाए थे, लेकिन गिल ने दूसरी पारी में भारत को मजबूत शुरुआत देते हुए 91 रनों की शानदार पारी खेली. इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ों पर कड़े प्रहार किए और अपना विकेट बचाए रखा. यही टीम इंडिया की जीत का कारण भी बना.  

Source: aajtak

4- मोहम्मद सिराज (तेज़ गेंदबाज़) 

मोहम्मद सिराज भी ब्रिस्बेन टेस्ट के हीरोज़ में से एक रहे. अपने तीसरा टेस्ट खेल रहे सिराज ने इस मैच में शानदार गेंदबाज़ी करते हुए कुल 6 विकेट झटके. दूसरी पारी में 5 विकेट झटकर सिराज ब्रिस्बेन में ज़हीर ख़ान के बाद भारत के दूसरे तेज़ गेंदबाज़ बने.  

Source: aljazeera

5- वॉशिंगटन सुंदर (स्पिन गेंदबाज़) 

किसी भी युवा खिलाड़ी के लिए इससे बेहतरीन शुरुआत और क्या हो सकती है. सुंदर ने मौक़े का फ़ायदा उठाते हुए अपने डेब्यू टेस्ट की पहली पारी में 62 रनों की शानदार पारी खेली. सुंदर की ये पारी टीम इंडिया की जीत की वजह भी बनी. दूसरी पारी में भी उन्होंने 22 रन बनाये. गेंदबाज़ी में भी उन्होंने पहली पारी में 3 विकेट, जबकि दूसरी पारी 1 विकेट झटका.  

Source: outlookindia

ऋषभ पंत और शुभमन गिल ने बनाए ये रिकॉर्ड  

ऋषभ पंत सबसे कम टेस्ट पारियों में 1000 रन बनाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए हैं. इस मामले में उन्होंने पूर्व विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को भी पीछे छोड़ दिया है. पंत ने 27 पारियों में ये उपलब्धि हासिल की है, जबकि धोनी ने 32 पारी खेली थीं. 

Source: aajtak

ब्रिस्बेन टेस्ट के दौरान शुभमन गिल चौथी पारी में फ़िफ्टी लगाने वाले भारत के सबसे युवा ओपनर बन गए हैं. शुभमन ने 21 साल और 133 दिन की उम्र में पूर्व भारतीय ओपनर सुनील गावस्कर का 50 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है. गावस्कर ने 21 साल और 243 दिन की सबसे कम उम्र में 1970 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ पोर्ट ऑफ़ स्पेन में खेले गए टेस्ट में फ़िफ्टी लगाई थी.