मौजूदा दौर में अगर कोई बल्लेबाज़ 60 की स्ट्राइक रेट से रन बनाता है तो उसे वनडे क्रिकेट के लायक नहीं समझा जाता है. लेकिन आज से क़रीब 30 साल पहले क्रिकेट इतिहास के बड़े से बड़े बल्लेबाज़ का स्ट्राइक रेट भी 40 से 50 के बीच होता था.

आज क्रिकेट एकदम बदल चुका है. बल्लेबाज़ 100 से ऊपर के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं. एबी डीविलियर्स जैसे खिलाड़ी को तो शतक बनाने के लिए सिर्फ़ 31 गेंदें चाहिए होती हैं. मौजूदा दौर में बल्लेबाज़ विकेट पर आते ही बड़े-बड़े शॉट लगाना शुरू कर देते हैं. जो बड़े शॉट लगाने में माहिर नहीं होते वो सिंगल डबल के ज़रिये अच्छे स्ट्राइक रेट से रन बनाने की कोशिश करते हैं. लेकिन आज से क़रीब 30 साल पहले ऐसा नहीं होता था.

आज हम आपको वनडे क्रिकेट की 5 सबसे धीमी पारियां के बारे में बताने जा रहे हैं जब बल्लेबाज़ों ने फ़ैंस का माथा ख़राब कर दिया था.

1. सुनील गावस्कर (174 गेंद 36* रन)

सुनील गावस्कर भारत के महानतम बल्लेबाज़ों में से एक हैं. लेकिन उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड है जो उनकी छवि के बिलकुल विपरीत है. गावस्कर ने 1975 के विश्व कप में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ वनडे क्रिकेट की सबसे धीमी पारी खेली थी. उन्होंने 174 गेंदों का सामना करते हुए 20.68 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ़ 36 रन बनाये. गावस्कर इस पारी के दौरान सिर्फ़ 1 चौका ही लगा पाए. भारत ने इस मैच में 60 ओवर खेलकर 3 विकेट के नुक्सान पर सिर्फ़ 132 रन बनाए.

Source: quora

2. जावेद मियांदाद (167 गेंद 63* रन)

पाकिस्तान के महान बल्लेबाज़ जावेद मियांदाद अपनी आक्रामक बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाते थे. लेकिन उन्होंने भी वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ एक शर्मनाक रिकॉर्ड बनाया था. मियांदाद ने 167 गेंदों का सामना करके 37.72 की स्ट्राइक रेट से सिर्फ़ 63 रन बनाए. मियांदाद की इस पारी को वनडे क्रिकेट इतिहास की दूसरी सबसे धीमी पारी कहा जाता है. मियांदाद की धीमी बल्लेबाज़ी की वजह से पाकिस्तान सिर्फ़ 140 रन ही बना सका.

Source: quora

3. मोहसिन ख़ान (176 गेंद 70 रन)

1983 विश्व कप के दूसरे सेमीफ़ाइनल में पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज़ मोहसिन ख़ान ने वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ 176 गेंदों में 70 रनों की बेहद धीमी पारी खेली थी. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 39.77 का रहा. मोहसिन की इस पारी को वनडे क्रिकेट की तीसरी सबसे धीमी पारी कहा जाता है. इस मैच में भी पाकिस्तान को वेस्टइंडीज के हाथों हार का सामना करना पड़ा.

Source: dawn

4. ब्रूस एडगर (167 गेंद 84* रन)

साल 1979 के वर्ल्ड कप में न्यूज़ीलैंड के ब्रूस एडगर ने भारत के ख़िलाफ़ वनडे क्रिकेट की चौथी सबसे धीमी पारी खेली थी. इस दौरान एडगर ने 167 गेंदों का सामना करते हुए 84 रनों की नाबाद पारी खेली थी. एडगर की इस पारी के बावजूद न्यूज़ीलैंड ने भारत को 8 विकेट से हराया था. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 50.29 का रहा. .

Source: quora

5. आमिर सोहेल (167 गेंद 87 रन)

आमिर सोहेल पाकिस्तान के सबसे धमाकेदार बल्लेबाज़ माने जाते थे. लेकिन उनके नाम वनडे क्रिकेट की 5वीं सबसे धीमी पारी खेलने का रिकॉर्ड है. सोहेल ने साल 1993 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ 167 गेंदों का सामना करते हुए 87 रनों की पारी खेली थी. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 52.09 का रहा.

Source: chaseyoursport

दोस्तों अगर आपकी नज़र में भी वनडे क्रिकेट की कोई धीमी पारी है तो हमारे साथ शेयर करें.