मेरठ शहर को कई कारणों से जाना जाता है जैसे यहां बनने वाली कैंची, स्वादिष्ट गज़क और यहां रहने वाले बेहतरीन लोग. लेकिन क्या आप ये जानते हैं अपने मेरठ को देश की 'स्पोर्ट्स सिटी' भी कहा जाता है.

Source: indiarailinfo

मेरठ को 'स्पोर्ट्स सिटी' कहे जाने का मुख्य कारण है यहां बनने वाला बेहतरीन क्वालिटी का खेल का सामान. यहां बनने वाले सामान की चर्चा देश ही नहीं विदेशों में भी ख़ूब होती है. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेलों में मेरठ में बने सामान का जलवा रहता है. कई खिलाड़ी यहीं बने सामान को इस्तेमाल करना पसंद करते हैं.

Source: fool

पूरे देश में जालंधर और मेरठ को स्पोर्ट्स का सामान बनाने के लिए जाना जाता है. जालंधर में जहां हॉकी, फुटबॉल और बॉलीबॉल जैसे खेलों का सामान ज़्यादा बनता है, वैसे ही मेरठ में क्रिकेट का सामान ज़्यादा बनता है. एमएस धोनी, वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, किरॉन पोलार्ड, विराट कोहली, कुमार संगाकारा जैसे खिलाड़ी मेरठ के बने बैट से ही खेलते हैं.

Source: sentinelassam

मेरठ में क्रिकेट के बल्ले से लेकर स्टंप्स, बॉल, पैड, बैटिंग और कीपिंग ग्लव्स और हेलमेट भी बनते हैं. क्रिकेट बैट्स SS और SG का नाम आपने ज़रूर सुना होगा. दोनों कंपनियां मेरठ की ही है.

Source: justdial

क्रिकेट के अलावा बॉक्सिंग के ग्लव्स, पंचिंग बैग्स, बैटमिंटन रैकेट, शटलकॉक, फुटबॉल, बॉलीबॉल, हैंडबॉल, हॉकी स्टिक, हॉकी बॉल, टेनिस बॉल और खेल का बाकी सामान भी मेरठ में बनाया जाता है और पूरी दुनिया में फ़ेमस हैं.

Source: so.city

खेल के सामान के अलावा राज्य में खेलों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए जल्द ही मेरठ में एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी भी खुलने जा रही है. उम्मीद है यूनिवर्सिटी जल्द ही खुलेगी.