ऑस्ट्रेलिया में खेले जा रहे ‘महिला टी-20 वर्ल्ड कप’ के दौरान भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने रचा इतिहास. भारतीय टीम पहली बार फ़ाइनल में पहुंचने में कामयाब रही. इससे पहले भारतीय टीम साल 2009, 2010 और 2018 में ‘टी-20 वर्ल्ड कप’ के सेमीफ़ाइनल में हार गई थी. 

wionews

दरअसल, आज भारत और इंग्लैंड के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर पहला सेमीफ़ाइनल खेला जाने वाले था, लेकिन मैच बारिश के कारण रद्द हो गया. इसके साथ ही इस टूर्नामेंट में एक भी मैच न हारने वाली भारतीय टीम फ़ाइनल में प्रवेश करने में सफ़ल रही. 

aajtak

भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में खेले अपने सभी मैच जीतकर अंक तालिका में सर्वाधिक 8 अंकों के साथ टॉप पर रही. सेमीफ़ाइनल मैच रद्द होने पर टीम इंडिया को इसका फ़ायदा मिला है. क्योंकि इस ‘वर्ल्ड कप’ में सेमीफ़ाइनल रद्द होने के बाद रिज़र्व डे का प्रावधान नहीं है, इसलिए ग्रुप स्तर के परिणामों के ध्यान में रखते हुए फ़ाइनल में जाने वाली टीम का ऐलान किया गया. 

अब भारतीय टीम का मुक़ाबला फ़ाइनल में दक्षिण व ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जाने वाले दूसरे सेमीफ़ाइनल के विजेता से होगा. हालांकि, दूसरे सेमीफ़ाइनल मैच पर भी बारिश का साया रहा है क्योंकि ये मैच भी ‘सिडनी क्रिकेट ग्राउंड’ पर ही खेला जाना है. 

intoday

‘महिला टी-20 वर्ल्ड कप’ में भारतीय टीम का सफ़र अब तक कुछ इस तरह का रहा- 

पहला मैच: 21 फ़रवरी को सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेला था. इस मैच में भारतीय टीम ने 17 रनों से जीत दर्ज की थी. 


दूसरा मैच: 24 फ़रवरी को पर्थ में बांग्लादेश के ख़िलाफ़ खेला था. इस मैच में भारतीय टीम ने 18 रनों से जीत दर्ज की थी.

तीसरा मैच: 27 फ़रवरी को मेलबर्न में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ खेला था. इस मैच में भारतीय टीम ने 3 रनों से जीत दर्ज की थी.

चौथा मैच: 29 फ़रवरी को मेलबर्न में श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेला था. इस मैच में भारतीय टीम ने 7 विकेट से जीत दर्ज की थी.

5वां मैच (सेमीफ़ाइनल): 5 मार्च को सिडनी में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेला जाना था, लेकिन बारिश के कारण मैच रद्द रहा.  

intoday

8 मार्च को ‘महिला दिवस’ के मौके पर मेलबर्न में फ़ाइनल मुक़ाबला खेला जाना है. उम्मीद करते हैं भारतीय महिला टीम इस बार देशवासियों को ‘महिला दिवस’ के मौके पर ख़ुशियों की सौगात देगी.