सिक्सर किंग के नाम से मशहूर युवराज सिंह हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं. युवी ने अनेकों बार अपनी लाजवाब पारियों के दम पर टीम इंडिया को कई शानदार जीत दिलाई हैं. युवराज के सन्यास लेने की ख़बर के आते ही उनसे जुड़े कई क़िस्से-कहानियां सामने आ रही हैं.

Source: indiatvnews

नेटवेस्ट सीरीज़ का फ़ाइनल हो या फिर 2011 वर्ल्ड कप का सेमीफ़ाइनल, युवी की कई इनिंग्स ने भारत को चैंपियन बनाया है, लेकिन जिस इनिंग ने युवराज को चैंपियन बनाया, उस इनिंग की जानकारी कुछ ही क्रिकेट फ़ैंस को होगी.

Source: republicworld

दरअसल, युवराज की उस शानदार इनिंग के बारे में सिर्फ़ और सिर्फ़ महेंद्र सिंह धोनी को मालूम है क्योंकि युवराज ने ये इनिंग धोनी के ख़िलाफ़ ही खेली थी.

Source: sportskeeda

अगर आपने M.S. Dhoni: The Untold Story फ़िल्म देखी है, तो उसमें धोनी (सुशांत सिंह राजपूत) युवराज सिंह की एक इनिंग के बारे में ज़िक्र करते हैं. जिसमें युवराज अकेले धोनी की टीम पर भारी पड़ जाते हैं.

Source: quora

कई लोगों को आज तक यही लगता है कि फ़िल्म में युवराज की जिस इनिंग के बारे में बताया गया है वो फ़िल्म की स्क्रिप्ट का हिस्सा होगा, लेकिन ऐसा नहीं है. असल में युवराज ने धोनी की टीम (बिहार) के ख़िलाफ़ 358 रन की वो मैराथन पारी खेली थी.

साल 1999 में पंजाब और बिहार के बीच जमशेदपुर के कीनन स्टेडियम में 'कूच बेहार अंडर-19 ट्रॉफ़ी' का फ़ाइनल खेला गया था. इस मैच में बिहार ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 357 रन बनाये, जिसमें धोनी ने 84 रन की पारी खेली थी. इसके बाद पंजाब की टीम बल्लेबाज़ी करने आती है. पंजाब का पहला विकेट 60 के स्कोर पर गिरने के बाद युवराज सिंह बल्लेबाज़ी करने आते हैं.

दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक पंजाब 1 विकेट के नुकसान पर 108 रन बना चुका होता है. तीसरे दिन के खेल की समाप्ति तक पंजाब का स्कोर 2 विकेट पर 431 रन होता है. इस दौरान युवराज अपना दोहरा शतक भी ठोक चुके होते हैं. आख़री दिन तक पंजाब की टीम 839 रन बना चुकी होती है, जिसमें युवराज अकेले 358 रन की पारी खेल डालते हैं. बिहार की टीम के कुल स्कोर से 1 रन ज़्यादा.

वाक़ई में युवराज सिंह ने इतना मारा कि धोनी की टीम का धागा ही खोल दिया.