भारत में इन दिनों फ़ुटबॉल 'इंटरकॉन्टिनेंटल कप' खेला जा रहा है. लेकिन ये बात कुछ फ़ुटबॉल प्रीमियों के अलावा शायद ही किसी और को मालूम होगी. अगर भारतीय फ़ुटबॉल स्टार सुनील छेत्री देशवासियों से टीम को सपोर्ट करने की अपील नहीं करते, तो शायद ही किसी पता चल पाता कि भारत में इन दिनों न्यूज़ीलैंड, चायनीज़ ताइपे और केन्या की फ़ुटबॉल टीमें इंटरकॉन्टिनेंटल कप में भाग लेने आयी हुई हैं.

Source: sportskeeda

1 जून को भारत और चीन के बीच इंटरकॉन्टिनेंटल कप का पहला मैच खेला गया, जिसमें भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए चायनीज़ ताइपे को 5-0 से हराया. इस शानदार जीत के बावजूद भारतीय खिलाड़ी खुश नहीं लग रहे थे क्योंकि उनकी हौसला अफ़जाई के लिए स्टेडियम में मुश्किल से हज़ार लोग भी मौजूद नहीं थे. इसके बाद 2 जून को भारतीय कप्तान और स्टार खिलाड़ी सुनील छेत्री का दर्द छलक पड़ा और उन्होंने देशवासियों से उनके मैच देखने आने की अपील की थी.

Source: scroll

सुनील छेत्री ने टि्वटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा था कि 'कृपया स्टेडियम में आकर हमारा समर्थन कीजिए. हमें प्रेरित कीजिए. भले ही हमें भला-बुरा कहिए और आलोचना कीजिए लेकिन हमें देखिए. भारत में फ़ुटबॉल को आपकी ज़रूरत है. उन सभी लोगों को जिनकी भारतीय फ़ुटबॉल से आशाएं ख़त्म हो गई हैं या कोई आशा ही नहीं है, उन सभी से हम स्टेडियम आने का आग्रह करते हैं. इंटरनेट पर मज़ाक उड़ाने या आलोचना करने से अच्छा है स्टेडियम आकर हम पर चिल्लाइए.'

सुनील छेत्री की इस अपील को क्रिकेट के दो दिग्गज़ सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली का समर्थन मिला और उन्होंने भी खेलप्रेमियों से स्टेडियम में जाकर मैच देखने की अपील की. इसी का असर था कि 4 जून को मुंबई में केन्या के ख़िलाफ़ खेले गए मैच में स्टेडियम दर्शकों से खचाखच भरा हुआ था. साथ ही देशवासियों पर भारतीय कप्तान की भावुक अपील का ऐसा असर हुआ कि सारी टिकटों की एडवांस बुकिंग एक दिन पहले ही हो चुकी थी.

कप्तान सुनील छेत्री ने देशवासियों से जो वादा किया था उसे शानदार तरीके से पूरा भी किया. इस मैच में भारत ने केन्या को 3-0 से हराया. ये मैच छेत्री के लिए इसलिए भी यादगार बन गया क्योंकि भावुक अपील के बाद मैच भी जीता और दो शानदार गोल भी किये. इसके साथ ही सुनील छेत्री बाईचुंग भूटिया के बाद भारत के लिए 100 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले दूसरे खिलाड़ी भी बन गए हैं.

Source: 90min

इस मैच में उनका हौसला बढ़ाने के लिए दिग्गज़ फ़ुटबॉलर बाईचुंग भूटिया और आईएम विजयन भी स्टेडियम में मौजूद थे, जिन्होंने मैच से पहले छेत्री को इस उपलब्धि के लिए सम्मानित भी किया. इस मौके पर टीम के खिलाड़ियों के साथ सुनील छेत्री की पत्नी और उनके अभिभावकों ने उन्हें मैदान में 'गार्ड ऑफ़ ऑनर' भी दिया गया. मैच देखने भारतीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल और बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन भी पहुंचे थे.

Source: theshillongtimes

मैच के बाद सुनील छेत्री ने स्टेडियम में भारी संख्या में आये प्रशंसकों को धन्यवाद देते हुए कहा 'मैच देखने आये सभी लोगों का शुक्रिया. दर्शकों से खचाखच भरा स्टेडियम देखना बहुत ही ख़ास है. आपको पता नहीं है कि इसके हमारे लिए क्या मायने हैं? आपका ये छोटा सा समर्थन हमें बहुत आगे तक ले जाएगा. हम अपने देश के लिए सबकुछ करने को तैयार हैं. मैं आपसे वादा करता हूं कि हम जब भी खेलेंगे अपना 100 फ़ीसदी योगदान देंगे.'