बेंगलुरु में बॉलीवुड एक्ट्रेस, सनी लियोनी के एक इंवेट को लेकर काफ़ी हंगामा मचा हुआ है. दरअसल, सनी, 31 दिसंबर न्यू ईयर की रात बेंगलुरु में परफ़ॉर्मेंस देने वाली थीं, लेकिन कुछ संगठन काफ़ी बड़े पैमाने पर इसका विरोध कर रहे हैं, जिसके चलते कनार्टक सरकार को नए साल पर होने वाले इस इवेंट को रद्द करना पड़ा.

इतना ही नहीं, कर्नाटक के रक्षा वेदिके संगठन के सदस्यों ने एक्ट्रेस की परफ़ॉर्मेंस को लेकर खुलेआम चेतावनी देते हुए ये तक कह डाला कि अगर शहर में सनी लियोनी का कार्यक्रम हुआ, तो बड़ी संख्या में संगठन से जुड़े लोग सुसाइड कर लेंगे. साथ ही प्रदर्शनकारियों ने सनी के पोस्टर जलाते हुए ये भी कहा कि सनी को यहां बुलाना कन्नड़ संस्कृति के लिए ख़तरा है.

वहीं मामले पर बात करते हुए संगठन के राज्य अध्यक्ष, हरीश ने कहा 'सनी का अतीत अच्छा नहीं है. हम उनके छोटे कपड़े पहनने के ख़िलाफ़ हैं, साथ ही अगर वो साड़ी पहन कर कार्यक्रम में हिस्सा लेती, तो हम उन्हें देखना पसंद करेंगे.'

आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि सनी लियोनी ने कनार्टक के कई क्रार्यक्रमों में हिस्सा लिया है.

संगठन का मानना है कि इस तरह का डांस और सनी दोनों ही हमारी संस्कृति नहीं हैं, जिस वजह से हम उनका विरोध करते हैं. साथ ही सनी भारतीय नहीं है, उनके बारे में सभी जानते हैं, वो कहां से आई हैं और क्‍या काम करती रही हैं. शहर में इस तरह का कार्यक्रम आयोजित कराया जाना भारतीय संस्कृति पर हमला है.

बता दें कि सनी कई कन्नड़ फ़िल्मों में अभिनय भी कर चुकी हैं. कई भारतीय लोगों की दकियानूसी ऐसे सामने आती है कि गूगल के आंकड़ों के हिसाब से सन 2017 में भारतीयों ने सबसे ज़्यादा सनी लियोनी को ही सर्च किया है. वही बात है न, देखते सब हैं, बताता कोई नहीं.

Source : IndiaToday