दिल्ली के बंटी चोर की ज़िंदगी पर बनी फ़िल्म 'ओये लकी ओये' तो आपने देखी ही होगी. वही लकी, जो लोगों के घरों में घुस कर किसी भी चीज़ को उठाने से परहेज़ नहीं करता था. ऐसा ही एक चोर पुलिस के हत्थे चढ़ा है, पर इस चोर के शौक उसे बाकि के चोरों से अलग बनाता है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने सिद्धार्थ मेहरोत्रा नाम के एक शख़्स को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक, सिद्धार्थ नेताओं, ब्यूरोक्रेट्स, बड़े अधिकारी और बिज़नेसमैन के घरों की रेकी करके चोरी की वारदातों को अंजाम दिया करता है.

पुलिस का कहना है कि सिद्धार्थ एक पढ़े-लिखे परिवार से आता है. उसके पिता बैंक मैनेजर हैं, जबकि वो खुद भी एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर है. हाई प्रोफ़ाइल इलाकों में रेकी करके सिद्धार्थ एक बात समझ चुका था कि इन इलाकों में चोरी करना ज़्यादा आसान है. इन इलाकों में गॉर्ड और सोसाइटी में रहने वाले लोगों के बीच काफ़ी कम्युनिकेशन गैप होता है, जिसकी वजह से यहां चोरी करके भागना आसान हो जाता है. इसके अलावा यहां सोसाइटी में आने वाली गाड़ियों पर कोई ख़ास निगरानी नहीं रखी जाती.

इस काम में सिद्धार्थ अपने दोस्त अनुराग की मदद लेता था, जो कार को चोरी करने वाले घर से दूर किसी पार्क के पास खड़ी कर देता था. इसके बाद सिद्धार्थ लोगों के घर की घंटियां बजाता था, जो घर इन्हें खाली मालूम पड़ते थे. उनमें ये ताला तोड़ कर घुस जाते थे

DSP ईश्वर सिंह के मुताबिक पिछले कई महीनों दक्षिण दिल्ली के इलाकों से चोरी के कई मामले सामने आ रहे थे. चोर को पकड़ने के लिए पुलिस की एक टीम भी बनाई गई थी, जो चोर की तलाश में जगह-जगह जुटी हुई थी. जांच के दौरान पुलिस के सामने सिद्धार्थ का नाम सामने आया. पुलिस ने जब सिद्धार्थ के फ़ेसबुक अकाउंट को खंगालना शुरू किया, तो उसमें सिद्धार्थ लेह में छुट्टियां मनाता हुआ दिखाई दिया. छुट्टियों की उसकी एक तस्वीर में एक महंगी कार भी नज़र आई, जो सिद्धार्थ के एक दोस्त विकास के नाम रजिस्टर थी. पुलिस ने जब विकास से पूछताछ की, तो सारी सच्चाई सामने आ गई

विकास ने पुलिस को बताया कि वो प्रीतमपुरा इलाके में किराये के मकान में रहता है. चोरी के पैसों से कपड़े, घड़ी और गाड़ियां खरीदने के साथ ही वो इन्हीं पैसों से किराया देता है. पुलिस को सिद्धार्थ के पास से Chevrolet Cruze कार भी मिली है.

Feature Image Source: oneindia

Source: TOI