जानवरों से प्यार करने वालों के लिए एक खुशखबरी है. ताइवान एशिया का पहला ऐसा देश बन गया है, जिसने कुत्ते और बिल्ली के मांस पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है. वहां की सरकार ने ये भी हिदायत दी है कि अगर कोई इसे बेचता या खाता पकड़ा गया, तो उसे भारतीय रुपये के हिसाब से 1 लाख से 1.5 करोड़ रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ेगा.

ये फ़ैसला लोगों की जानवरों के प्रति मानसिकता को बदलने के लिए लिया गया है. ताइवान में एक बड़ा तपका कुत्ते और बिल्लियों को पाल रहा है. ऐसे में मांस बेचने वाले इनको चोरी कर के अपने फ़ायदे के लिए उन्हें मार देते हैं. इस फ़ैसले के बाद अब इन चोरियों पर लगाम लगाई जा सकेगी.

कुत्ते और बिल्लियों के मांस बिक्री पर रोक लगाने का वादा राष्ट्रपति Tsai Ing-wen ने चुनाव के दौरान किया था. ख़ुद उनके पास भी 1 बिल्ली और 3 कुत्ते हैं. वो एक Pet Lover हैं. ऐसे में चुनाव के बाद इस फ़ैसले का आना तय लग रहा था.

ताइवान से अलग हट कर एशिया के कुछ ऐसे देश हैं, जहां कुत्ते और बिल्लियों के मांस की बिक्री बड़े पैमाने पर होती है. चीन में तो Dog Meat Festival मनाया जाता है. एक आंकड़े के मुताबिक हर साल इस Festival में 10 हज़ार से ज़्यादा कुत्ते मार दिए जाते हैं.

इन सब के बावजूद ताइवान सरकार द्वारा लिया गया ये फ़ैसला सराहनीय है और शायद ताइवान के बाद कुछ और देशों से ऐसे फैसलों की उम्मीद है.

Image Source: Boredpanda