आज के समय में अपनों से जुड़े रहने के लिए हमेशा उनके आसपास रहने की ज़रूरत नहीं है. बस फ़ोन उठाओ, वीडियो कॉल लगाओ और चंद सेकेंड में आप अपने क़रीबी लोगों से कनेक्ट हो जाते हैं. व्हाट्सएप (WhatsApp), फ़ेसबुक (Facebook) जैसी तमाम मैसेंजर एप्स ने ये काम और भी आसान कर दिया है. लेकिन इस समय ये चीज़ें जितनी आसान लग रही हैं उतनी पहले नहीं थीं.

video call
Source: popsci

रिलायंस जियो के आने से पहले का वो दौर भला हम कैसे भूल सकते हैं. जब एक नार्मल टेक्स्ट मैसेज भेजने पर भी जेब से पैसे ख़र्च करने पड़ते थे. धीरे-धीरे चीज़ों में बदलाव आया और फ़िर फ़्री SMS पैक्स का ज़माना आया. उस समय और कुछ भले ही याद रहे न रहे, लेकिन एक दिन में मिलने वाले सिर्फ़ 100 SMS की गिनती ज़रूर याद रहती थी. उस दौर में अपनी गर्लफ्रेंड से बतियाने वाले आशिक़ों से पूछो, इस चीज़ की सबसे ज़्यादा दिक्कत झेलने वाले तो वही लोग हैं. हालांकि, अब भी तमाम मैसेजिंग एप्स की इस दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो टेक्स्ट मैसेज भेजना ही प्रेफ़र करते हैं.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया का सबसे पहला टेक्स्ट मैसेज क्या था और वो किसे भेजा गया था? नहीं न, तो चलिए आपको आज इसी बारे में बताते हैं-

text message old
Source: shutterstock

ये भी पढ़ें: तुम लाख लगा लो ब्लू टिक मगर... दुनिया को पता चल जाएगा कि तुमने मैसेज पढ़ा या नहीं

किसने भेजा था दुनिया का पहला मैसेज?

ये बात साल 1992 की है. यूके से एक 22 साल के सॉफ्टवेयर प्रोग्रामर नील पापवोर्थ (Neil Papworth) ने एक कंप्यूटर से अपने कॉलेज के दोस्त रिचार्ड जारविस को सबसे पहला टेक्स्ट मैसेज भेजा था. नील अपने क्लाइंट के लिए बतौर डेवलपर और टेस्ट इंजीनियर के रूप में एक शॉर्ट मैसेज सर्विस (SMS) क्रिएट करने के लिए काम कर रहे थे.

इस दिन भेजा गया था पहला मैसेज

रिचार्ड उस समय कंपनी के डायरेक्टर थे. उनको ये SMS ऑर्बिटल 901 हैंडसेट (Orbitel 901 Handset) पर भेजा गया था. ये मैसेज 3 दिसंबर 1992 को भेजा गया था, जिस पर 'Merry Christmas' लिखा हुआ था.

richard jarvis
Source: vodafone

मैसेज में 160 कैरेक्टर्स की ही हुआ करती थी लिमिट

इसके एक साल बाद 1993 में नोकिया ने आने वाले मैसेज का सिग्नल देने के लिए एक विशिष्ट तरह की बीप के साथ SMS फ़ीचर पेश किया. सबसे पहले टेक्स्ट मैसेज में सिर्फ़ 160 कैरेक्टर्स की लिमिट हुआ करती थी. इसके बाद लोगों ने कीबोर्ड कैरेक्टर्स से अपनी भावनाओं को ज़ाहिर करने के लिए इमोजी बनानी शुरू कीं. इसी से क्रिएटर्स को इमोजी बनाने की प्रेरणा मिली और आज के दौर में हर कोई मैसेज भेजते समय इनका यूज़ करता है. 

ये भी पढ़ें: ये 23 मैसेज लिखे तो गए थे ट्रिब्यूट देने के लिए, मगर जब लोगों ने पढ़े तो वो अपनी हंसी रोक नहीं पाए

21 दिसंबर को होगी नीलामी

ख़बरों की मानें तो दुनिया में भेजे गए पहले SMS की 21 दिसंबर को नीलामी होने वाली है. इसे पेरिस के एगट्स ऑक्‍शन हाउस (Paris Auction House Aguttes) द्वारा नीलाम किया जाएगा. साथ में ये भी बताया गया है कि नीलामी में दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज 1 करोड़ 71 लाख़ रुपये में बेचा जाएगा. इस बात की जानकारी वोडाफ़ोन कंपनी ने अपने ट्विटर अकाउंट से दी है. 

जानकारी के लिए बता दें कि, वोडाफ़ोन ही वो नेटवर्क ऑपरेटर था, जिसके जरिए ये मैसेज भेजा गया था. ये नीलामी वोडाफ़ोन द्वारा ही की जा रही है.