गाड़ी से रात को सड़क से गुज़रते समय आपने ऐसे कई लोगों को देखा होगा, जो फुटपाथ को अपना बिस्तर और आसमान को अपनी चादर बनाये गाड़ियों के शोर के बीच सोये रहते हैं. ऐसे लोगों को छत देने के लिए तेलंगाना सरकार एक योजना ले कर आई है, जिसके तहत वो प्लेटफ़ॉर्म पर खड़े बेकार रेलवे कोच का इस्तेमाल करके इनके लिए घर बनाएगी.

Source: deccanchronicle.com

इस बाबत तेलंगाना मिशन फॉर एलिमिनेशन ऑफ़ पावर्टी अपने म्युनिसिपल क्षेत्र में 16 जगहों पर 21 शेल्टर बनाएगी. केंद्र सरकार पहले ही इससे जुड़ा प्रस्ताव ला चुकी है, जिसमें उसने कहा था कि उपयोग न हो रहे पुराने पैसेंजर कोच में पानी और सीवेज की सुविधा उपलब्ध करा के ज़रूरतमंदों के लिए आवास बनाये जाये.

Source: commons.wikimedia.org

इस बाबत रेलवे को भी निर्देश दिया गया है कि वो 'जो जहां है, वो वहीं के लिए है' की नीति के तहत काम करे. इसके अनुसार कोच किसी भी अवस्था में हों उनका इस्तेमाल किया जायेगा. ये नए शेल्टर ग्रेटर हैदराबाद सहित आदिलाबाद, कामारेड्डी, करीमनगर, मानचेरियल, मेडचल, भैंसा, निर्मल, अर्मूर, निज़ामाबाद, वेमुलावड़ा, शादनगर, हुजूरनगर, कोडेड, येल्लांडु और भोगीर में बनाये जायेंगे.

Source: scoopwhoop