राष्ट्रीय ध्वज ही किसी भी देश की पहचान होती है. यह किसी भी देश का स्वतंत्र होने का प्रतीक है. हमारे राष्ट्रीय ध्वज की परिकल्पना 'पिंगली वैंकैयानन्द' ने की थी, जिसे आज़ादी के बाद राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपना लिया गया. आज हम इसे 'तिरंगे' के रूप में जानते हैं.

देखा जाए, तो भारतीय राष्ट्रीय ध्वज में तीन रंगों का प्रयोग किया गया है. सबसे ऊपर केसरिया, बीच में सफे़द और सबसे नीचे हरे रंग का इस्तेमाल किया गया है. सभी रंगों का अपना एक अलग महत्व है.

अंग्रेज़ों से आज़ादी के बाद हमने ध्वज के रूप में तिरंगे को चुना. लेकिन अंग्रेज़ों से पहले भी इस देश पर कई शासकों का आधिपत्य रहा. सोचिए, अगर उन लोगों का अभी तक देश में शासन रहता तो, हमारा राष्ट्रीय ध्वज कैसा रहता. स्थिति और राज्य की शक्ति के अनुसार, हम पेश कर रहे हैं 10 ऐसे झंडे जो भारत के राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनी पहचान बना सकते थे.

1. मुगल सल्तनत- भारत में सबसे ज़्यादा समय तक राज करने वाले मुगल थे. ऐसे में भारत का राष्ट्रीय ध्वज कुछ इस तरह होता.

2. अंग्रेजी हुकुमत- द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान लंदन को काफी असुरक्षित माना गया था. ऐसे में वहां की रानी ने तय किया कि भारत को बेस कैंप बनाया जाए. उस दौरान भारत का झंडा कुछ इस तरह दिखता.

3. संयुक्त कम्यूनिस्ट राज्य- अगर चीन, तिब्बत और भारत में साम्यवादी सरकार होती तो हमारा झंडा कुछ इस तरह का होता.

4. नाज़ी सरकार- अगर सुभाष चंद्र बोस हिटलर की मांगें मान लेते और भारत में अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ उनकी जीत होती, तो देश का झंडा कुछ इस तरह होता.

5. फ्रांसिसी उपनिवेश- अगर भारत में फ्रांसिसी उपनिवेशवाद कायम रहता तो भारत का राष्ट्रीय झंडा कुछ इस तरह का होता.

6. डच कंपनी- अगर डच अभी तक भारत में मौजूद रहते तो भारत का राष्ट्रीय झंडा कुछ इस तरह से होता.

7. मराठा राज- मराठाओं ने कई बार मुगल सल्तनत और अंग्रेज़ों को धूल चटाई है. अगर उनका शासन भारत में रहता तो हमारा राष्ट्रीय ध्वज कुछ इस तरह से रहता.

8. बंगाल राज- इतिहास गवाह है कि भारत में बंगाली शासकों ने भी ख़ूब राज किया है. अगर वे अभी तक शासन करते तो भारत का झंडा कुछ इस तरह से होता.

9. सिख साम्राज्य- एक समय ऐसा था, जब भारत में सिखों की तूती बोलती थी. भारत के अलावा पड़ोसी राज्यों में भी उनका अधिकार था. अगर अब तक उनका शासन चलता तो भारत का झंडा कुछ इस तरह से होता.

10. मार्कस्वादी सरकार- वैसे तो भारत में मार्क्सवादी पार्टी है.लेकिन एक समय ऐसा था, जब मार्क्सवादी पार्टी की सरकार देश में बनने वाली थी. अगर सरकार बन जाती तो भारत का राष्ट्रीय झंडा कुछ इस तरह से होता.

तो बताइए देश के नागरिक, आपको कौन सा झंडा पसंद आया. ख़ैर, तिरंगा के अलावा किसी और की कल्पना ही व्यर्थ है. तो जोर से बोलिए 'भारत माता की जय' और इस आर्टिकल को शेयर कीजिए.

Source: Youtube