गूगल स्ट्रीट व्यू या गूगल मैप बहुत ही काम की चीज़ है. आज-कल बस अपने गंतव्य का नाम डालो और गूगल बाबा के आशीर्वाद और मार्गदर्शन से आप अपनी मंज़िल तक पहुंच जाते हैं. लेकिन कई बार जब सुदूर और दूर-दराज़ के इलाकों की जानकारी और तस्वीरें भी हम तक पहुंच जाती हैं, तो लगता है कि आखिर ये गूगल कहां-कहां पहुंच चुका है. पर आपको बता दूं कि इस आश्चर्यजनक टेक्नोलॉजी के पीछे मनुष्य की प्रतिबद्धता है.

गूगल ने हाल ही में अपना थाईलैंड हाइलाइट्स स्ट्रीट व्यू लॉन्च किया है और एक इंसान ने 500,000 किलोमीटर अपने पैरों पर चल कर थाईलैंड के दूरवर्ती इलाकों की तस्वीरें अपने कैमरे में क़ैद की हैं. ये वो इलाके हैं जहां गाड़ी से जाना मुश्किल है. इस विस्मयकारी इंसान का नाम है Panupong Luangsa-ard जो कि थाई ट्राईएथलीट हैं.

Panupong 40 पाउंड के बैकपैक के साथ थाईलैंड के दूर-दराज़ के इलाकों के चक्कर लगाते और तस्वीरें खींचते. इनके बैकपैक के ऊपर ही बड़ा सा कैमरा भी लगा हुआ था, जिससे समय-समय पर तस्वीरें ली जाती थीं.

2 साल तक Panupong ने थाईलैंड के मनोरम दृश्यों को अपने कैमरे में समेटा. जब बारिश होती, तब ही Panupong रुकते, क्योंकि तस्वीरें लेने के लिए मौसम का साफ़ होना ज़रूरी था.

ये ज्ञात नहीं हुआ है कि Panupong को ये काम करने के कितने रुपये मिले थे, लेकिन अगर थाईलैंड की छुपी हुई खूबसूरती को Panupong दुनिया के सामने लाने में सफल हुए हैं, तो पक्की बात है कि वो अभी करोड़पति हो गए होंगे. लेकिन पैसों से ज़्यादा महत्वपूर्ण है कि Panupong ने इतने लम्बे सफ़र के दौरान जो अनुभव, लोग, कहानियां, दृश्य देखे होंगे, उनका मोल नहीं लगाया जा सकता.

Image Source: Mashable