एक आम लड़की की तरह उसकी आंखों में भी ज़िंदगी को लेकर कई सपने हैं. यहां तक कि वो आज़ाद पंछी की तरह पंख फ़ैला कर, आसमान में उड़ने की चाहत भी रखती है, लेकिन एक भंयकर बीमारी के कारण वो सांप की तरह ज़िंदगी जीने को मजबूर है.

ये किस्सा अपने आप में बेहद अनोखा और चौंका देने वाला है. हम बात कर रहे हैं 16 साल की शालिनी यादव की, जो बचपन से ही Erythroderma नामक घातक बीमारी से पीड़ित है. तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि शालिनी के शरीर की बनावट अलग है और उसकी स्किन सांप की तरह है. हर 45 दिन के अंदर शालिनी के शरीर की खाल बदल जाती है. ठीक वैसे ही, जैसे समय-समय पर सांप अपनी स्किन छोड़ते रहते हैं. इस दौरान 16 साल की शालिनी को काफ़ी दर्द भी बर्दाशत करना पड़ता है. उस वक़्त शालिनी को जिस पीड़ा से गुज़रना पड़ता है, वो पीड़ा शायद हम और आप समझ भी नहीं सकते.

परिवार की आर्थिक हालत इतनी ख़राब हैं कि वो अपनी बेटी के लिए क्रीम का इंतज़ाम भी नहीं कर सकते. बॉडी में नमी बनाए रखने के लिए शालिनी को हर घंटे पानी की ज़रूरत होती है. एक ओर जहां शालिनी कुदरत के इस कहर से परेशान थी, वहीं स्कूल वालों ने ये कह कर बाहर रास्ता दिखा दिया कि स्कूल के बच्चों को उसे देख कर डर लगता है. डॉक्टर पहले ही इस बीमारी को लेकर हाथ खड़े कर चुके हैं.

वहीं अपनी बेटी को ज़िंदगी से यूं लड़ता और पल-पल मरता देख, परिवार वाले उसके मृत्यु की मांग कर रहे हैं. शालिनी के दो भाई-बहन और हैं, जो कि बिल्कुल नॉर्मल हैं.

सिर्फ़ चंद बातों से किसी के दर्द का अंदाज़ा नहीं लगाया जा सकता. इस पूरे मसले पर बात करते हुए शालिनी कहती है, 'मैं जीना चाहती हूं, पढ़ना चाहती हूं अगर आप मेरी मदद कर सकते हैं, तो प्लीज़ कर दीजिए.'

अगर आप ये आर्टिकल पढ़ रहे हैं, तो प्लीज़ इसे ज़्यादा से ज़्यादा अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से शेयर कर, इस मासूम की मदद ज़रूर करें.

Source : Dailymail